एलयू काउंसिलिंग में हंगामें के बाद लगा प्रोजेक्टर

  • जिम्मेदारों के सारे दावों की खुली पोल

14पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय में स्नातक की प्रवेश प्रक्रिया से पूर्व पादर्शिता के बड़े-बड़े दावे करने वाले अधिकारियों की पोल खुल गई है। काउंसिलिंग की सारी प्रक्रिया को प्रोजेक्टर से दिखाने का दावा करने वाला विवि प्रशासन मात्र एक प्रोजेक्टर का प्रबंध कर पाया है। वह इंतजाम भी काउंसिलिंग में जुटे अभ्यर्थियों के हंगामे के बाद हुआ है।
काउंसिलिंग के दौरान छात्र संगठनों ने कई बार प्रोजेक्टर लगवाने की मांग की थी। हर वार उन्हें आश्वासन देकर लौटा दिया गया। जब काउंसिलिंग के दौरान अव्यवस्था से छात्रों को परेशानी हुई, तो उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। विवि प्रशासन ने अपनी जान बचाने के लिए केवल एक विभाग में प्रोजेक्टर लगवाकर अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली। जबकि एडमिशन को-ऑर्डिनेटर ने सभी काउंसलिंग सेंटरों के बाहर मॉनिटर लगाने की बात कही थी, लेकिन शुक्रवार को सिर्फ एमबीए विभाग में मॉनिटर लगाया गया। अन्य सेंटरों पर अब तक मॉनीटर नहीं लगे हैं। जबकि कॉमर्स और आर्ट सेक् शन से जुड़े विभागों में सबसे अधिक जरूरत है। इसी तरह काउंसिलिंग के दोरान सेंटर तक पहुंचने के लिए रोड मैपिंग करवाने का विवि प्रशासन का दावा खोखला निकला। गलत रोड मैपिंग के कारण छात्रों को घंटों परेशान होना पड़ा।

 

Pin It