एलडीए में अभी भी तीन हजार फ्लैट खाली

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। एलडीए की सुनहरा अवसर योजना भी लोगों को खासा रास नहीं आ रही है। शुरू में गोमतीनगर विस्तार में तो आवेदकों ने खूब रुचि दिखाई और जमकर पंजीकरण कराया लेकिन बाद में आवेदक एलडीए को ढूंढे नहीं मिल रहे हैं। सुनहरा अवसर योजना में 3000 से अधिक खाली फ्लैटों के लिए सिर्फ 57 आवेदन पत्र आए हैं।
लखनऊ विकास प्राधिकरण के 3,542 फ्लैटों में एलडीए का दो हजार करोड़ रुपये से अधिक फंसा हुआ है। 10 जून को हुई लॉटरी में गोमती नगर विस्तार निवेशकों की पहली पंसद बनी थी। उस दौरान सुलभ आवास टाइप ए की डिमांड सबसे ज्यादा थी। देखते ही देखते एलडीए ने उन फ्लैटों में 225 से अधिक फ्लैट बुक कराने में सफलता हासिल कर ली थी। दूसरे चरण में एलडीए को इसी तरह की बुकिंग की उम्मीद थी, लेकिन मात्र 57 आवेदन पत्र आना निराशाजनक है। एलडीए अधिकारियों ने बताया कि अभी लॉटरी को लेकर कोई तिथि तय नहीं की गई है। पहले छह जुलाई तिथि निर्धारित की गई थी इसे बढ़ाकर 10 जुलाई की गई, लेकिन अब आगे की तिथि जल्द ही घोषित करने की बात की जा रही है। एलडीए की मंशा है कि लॉटरी के लिए आवेदनों की संख्या कम से कम सौ हो जाए फिर लॉटरी कराई जाए। 31 जुलाई तक फ्लैटों का पंजीकरण खोला गया है।

Pin It