एलडीए ने नामचीन हस्तियों का रखा ख्याल, शहर की परवाह नहीं

  • सात प्रस्तावों पर लगी मुहर दो नहीं हुए पास

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। लखनऊ विकास प्राधिकरण की बोर्ड बैठक शुक्रवार को सम्पन्न हुई। इसमें कई अहम प्रस्तावों पर मुहर लगी और कुछ पर रोक लगाई गई। बैठक में लिए गए निर्णय के बाद बड़े व चुनिंदा लोगों के घरों में अब कामर्शियल गतिविधियां हो सकेंगी। इससे एक दो नहीं बल्कि 71 ऐसे रसूखदार लोगों को लाभ पहुंचेगा।
वहीं जानकारों का कहना है कि इस कदम से शहर में अतिक्रमण को बढ़ावा मिलेगा, जिससे आम जनता को परेशानी होगी। इसके अलावा बोर्ड बैठक में कुल नौ प्रस्ताव रखे गए, इनमें सात पर मुहर लग गई और दो प्रस्तावों को रोक दिया गया। एलडीए सचिव अरुण कुमार ने बताया कि भू उपयोग परिवर्तन के साथ प्रभावी शुल्क आवेदनकर्ता को जमा करना होगा। यह शुल्क व्यावसायिक संपत्तियों के प्रकार पर निर्भर करेगा।

इन प्रस्तावों पर लगी मुहर

=रायबरेली क्षेत्र स्थित ओमेगा इन्फ्राबिल्ड प्राइवेट लि. द्वारा 25 एकड़ की टाउनशिप पर शर्तों के साथ स्वीकृति
=अंसल प्रापर्टीज इन्फ्रास्ट्रक्चर लि. अपनी जमीन पर ग्रुप हाउसिंग के स्थान पर मेगा बिल्डिंग बनाएगी। कई बिल्डिंग को तलब करके।
=अंसल प्रापर्टीज इन्फ्रास्ट्रक्चर लि. की सुशांत गोल्फ सिटी में प्लाटों की बिक्री कर सकेगी।
=उप्र. नगर योजना और विकास नियमावली 2014 के अंतर्गत प्राप्त आवेदन पत्रों पर नियमावली में चिन्हित प्राविधानों के अंतर्गत कार्यवाही के निर्देश।
=आवासीय उपयोग के भूखंड संख्या 3296 विशाल खंड में बैंक खोलने की इजाजत
= प्राधिकरण की छह नवंबर 2015 को हुई बोर्ड बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार आवेदनकर्ता को 378 वर्ग मीटर का प्लाट देेने का निर्णय।
= गुरु तेग बहादुर एजुकेशनल कल्चर पत्र सोशल वेलफेयर सोसाइटी के पक्ष में भूखंड का निबंधन होने के बाद, अब पांच वर्ष बाद भवन मानचित्र स्वीकृत कराकर निर्माण किए जाने की अनुमति दी गई।

बिना पार्किंग के चल रहे भवनों पर कार्रवाई करने को प्रमुख सचिव ने दिए निर्देश

लखनऊ। शुक्रवार को एलडीए की बोर्ड मीटिंग में प्रमुख सचिव आवास सदाकांत ने एलडीए अफसरों को बड़ी सडक़ों पर नियमों की अनदेखी करके बनी बिल्डिंगों को चिन्हित करके कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। डीएम राजशेखर ने दो दिन पूर्व ही एलडीए अध्यक्ष व प्रमुख सचिव आवास एवं विकास परिषद अध्यक्ष को पत्र लिखकर अवैध इमारतों के स्थलीय निरीक्षण कराने की बात कही थी। डीएम ने कहा कि अगर सख्ती करके इसे दुरुस्त कर लिया गया तो राजधानी की यातायात व्यवस्था सुगम हो जाएगी। एलडीए सचिव अरुण कुमार ने बताया कि कपूरथला से अलीगंज और पुरनिया चौराहा व नेहरू बाल वाटिका की ओर सडक़ पर, पत्रकारपुरम, विकास नगर, महानगर सहित चौड़ी सडक़ों पर बिना पार्किंग के चल रहे भवनों पर सीलिंग की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने इस काम के लिए प्रवर्तन के अभियंताओं की एक टीम लगाने के निर्देश दिए हैं।

Pin It