एलडीए ढाई वर्षों से 1300 कर्मचारियों को नहीं दे रहा सिलाई भत्ता

  • चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को 2014 में बांटी गई थी वर्दियां

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एलडीए में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को बीते ढाई वर्षों से वर्दी सिलवाने को दिया जाने वाला भत्ता अब तक नहीं मिला है। फाइल चलती है और फिर रुक जाती है। वहीं दूसरी ओर कर्मचारियों का कहना है कि एलडीए के पास अन्य चीजों के लिए पैसा है, पर यहां कार्यरत कर्मियों के लिए पैसा नहीं है। वर्दी सिलवाये हुए ढाई से तीन वर्ष हो चुके हैं और भत्ता अब तक नहीं मिला है। इससे चतुर्थ श्रेणी कर्मियों में आक्रोश व्याप्त है।
एलडीए में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी में लगभग 1300 कर्मियों में वर्ष 2014 में वर्दी बांटी गई थी। तब से अब तक ढाई वर्ष बीतने के बाद भी उन्हें सिलाई भत्ता नहीं दिया गया है, जिससे वह काफी हताश हैं। उनका मानना है कि हर तीन वर्ष में वर्दी बांटी जाती है और सिलवाई का भत्ता जोकि शासनादेश के हिसाब से 250 से 300 रुपये तक मिलना तय है, नहीं दिया जा रहा है। लखनऊ विकास प्राधिकरण कर्मचारी संघ के महामंत्री दिनेश शुक्ला ने बताया कि हर तीन वर्ष में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को वर्दी मिलती है और सिलाई भत्ता 250 से 300 रुपये तक दिया जाता है। किन्तु बीते 2014 में कर्मचारियों को वर्दी तो दी गई, लेकिन ढाई साल बीतने के बाद भी भत्ता नहीं दिया गया है। इसके लिए कई बार सचिव से बात की गई और उन्हेें इस पर ध्यान देने के लिए कहा गया, लेकिन वह भी वार्ता करने की बात कहकर मामले को टाल देते हैं। अब इन कर्मचारियों के लिए भत्ता मिलने पर संकट मंडरा रहा है। उन्होंने बताया कि एक तो पहले ही एक वर्ष लेट 2013 की जगह 2014 में वर्दी बांटी गई थी और अब सिलाई भत्ता देने के लिए कर्मचारियों को चक्कर लगाना पड़ रहा है। वहीं एक बार फिर तीन वर्ष बीतने के पश्चात 2017 में नई वर्दी मिलने का समय आ रहा है। ऐसे में जब सिलाई भत्ता विभाग द्वारा नहीं दिया जा रहा है, तो वर्दी लेकर कर्मचारी क्या करेंगे।

Pin It