एलडीए की साख पर बट्टा लगाने में जुटे बाबू

  • ५०० से अधिक फाइलों को दबा कर हैं बैठे, कैसे होगा निस्तारण
  • वीसी ने १५ अगस्त तक समस्त विवादित मामलों के निस्तारण के दिए निर्देश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एलडीए वीसी सत्येन्द्र सिंह ने लखनऊ विकास प्राधिकरण पर से विवादों के दाग को हटाने के लिए भरसक प्रयास कर रहे हैं। इसी के चलते उन्होंने बीते दिनों में विवादित मामलों को निस्तारित करने के लिए 15 अगस्त की तिथि मुकर्रर करते हुए निर्देश दिए थे। लेकिन एलडीए के बाबू को शायद वीसी के निर्देशों की कोई परवाह नहीं है और एलडीए पर लगे दागों पर बट्टा लगाने में जुटे हुए हैं। वीसी का उद्देश्य है कि लखनऊ विकास प्राधिकरण में जितने भी विवादित मामले हैं, उन्हें १५ अगस्त तक निस्तारित किया जाए, लेकिन एलडीए में तैनात बाबू पांच सौ से अधिक फाइलों को दबाए बैठे हैं। इससे एलडीए उपाध्यक्ष के आदेशों की अनदेखी हो रही है।
एलडीए उपाध्यक्ष सत्येंद्र सिंह ने सभी विभागों को अपनी ओर से दिशा निर्देश भी जारी कर दिए थे। विवाद समाधान शिविर में इन मामलों को निस्तारित करने का काम भी तेजी से चल रहा है लेकिन एलडीए में ही तैनात बाबू मुक्तेश्वर नाथ ओझा सैकड़ों फाइलों को दबाकर बैठे हैं। उनके पास गोमती नगर विस्तार, बसंतकुंज और प्रियदर्शनी नगर योजना की सैकड़ों फाइलें डंप पड़ी हैं। एलडीए उपाध्यक्ष का मानना था कि एलडीए में विवाद निपट जाते हैं तो एलडीए पर दशकों से लगा विवाद का दाग मिट जाएगा।

Pin It