एनपीआर के काम में लापरवाही बरतना पड़ा भारी

उप नगर आयुक्त ने 153 कर्मचारियों के खिलाफ दर्ज करवाई एफआईआर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। आधार कार्ड को राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (नेशनल पापुलेशन रजिस्टर) से जोडऩे की योजना में सहयोग नहीं करने वाले चार विभागों के 153 कर्मचारियों के खिलाफ हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज करवाई गई है। इसके साथ ही सभी संबंधित विभागों के प्रमुख को कार्यवाही के संबंध में नोटिस भेजा गया है।
एनपीआर प्रभारी अरविंद राय के मुताबिक शहरी क्षेत्र में आधार कार्ड को जनसंख्या रजिस्टर के जोडऩे का अति महत्वपूर्ण कार्य चल रहा है। इसमें विभिन्न सरकारी विभागों के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है लेकिन विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के कारण काम को समय से पूरा करने में बाधा पहुंच रही है। ये कर्मचारी एनपीआर के काम को गंभीरता से नहीं ले रहे हैं। अपने विभाग से कार्यमुक्त होने के बाद भी एनपीआर का काम नहीं कर रहे हैं। इसलिए एनपीआर के काम में लापरवाही बरतने वाले सभी कर्मचारियों के खिलाफ नागरिकता अधिनियम 1955 के नियम 2003 के तहत हजरतगंज थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। आरोप है कि इन कर्मचारियों की लापरवाही के कारण 15 जनवरी तक राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर में क्षेत्रीय लोगों का शत प्रतिशत पंजीकरण करने का काम नहीं हो पाया। इसलिए पीडब्ल्यूडी, खादी ग्रामोद्योग, पर्यटन निदेशालय और वन निगम के 153 कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही की गई है। गौरतलब हो कि एनपीआर प्रभारी ने इन विभागों को कई बार पत्र भेजकर कर्मचारियों से एनपीआर तैयार करने में सेवाएं देने का अनुरोध किया था लेकिन अधिकारियों और कर्मचारियों ने पत्र को गंभीरता से नहीं लिया। इसमें पीडब्ल्यूडी निर्माण खंड-2 के 15, खादी ग्रामोद्योग के मुख्य कार्यपालक अधिकारी कार्यालय के 73, पर्यटन निदेशालय के 7 और वन निगम के 37 कर्मचारियों को विभागों ने रिलीव भी कर दिया था। इसके बाद भी उन्होंने सेवाएं नहीं दी। इसकी वजह से पिछले एक महीने से एनपीआर तैयार करने का काम प्रभावित हुआ है।

Pin It