एनआईसी लखनऊ की वेबसाइट तक अपडेट नहीं

Capture
जिले में चार तहसीलों का ही विवरण
सरोजनीनगर तहसील का जिक्र तक नहीं

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव सरकारी कार्यालयों में पेपरलेस काम कराने की योजना बना रहे हैं। जनता से जुड़े अधिकांश काम-काज ऑनलाइन कराने पर सालाना करोड़ों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। इसके बावजूद एनआईसी सेंटर में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों की लापरवाही के कारण सरकारी वेबसाइट तक अपडेट नहीं हो पा रही हैं। ऐसे में ऑनलाइन जानकारी हासिल करने और जन समस्या का ऑनलाइन समाधान पाने की आस में लगे लोगों को निराश होना पड़ रहा है। इसकी सुध लेने वाला कोई नहीं है।
जिले में सदर, बीकेटी, मोहनलालगंज, मलिहाबाद और सरोजनीनगर समेत कुल पांच तहसीलें हैं। इसमें सरोजनीनगर में नई तहसील बनाने, उप जिलाधिकारी और तहसीलदार की तैनाती का काम 18 अगस्त को ही हो चुका है। ये अधिकारी अस्थायी रूप से पीआरडी भवन सरोजनीनगर में बैठकर सरोजनीनगर तहसील क्षेत्र में आने वाले लोगों की समस्याएं सुन रहे हैं। इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को पंचायत चुनाव और अपने तहसील क्षेत्र में आने वाले गांवों से संबंधित जानकारी ऑनलाइन नहीं मिल पा रही है। इसकी प्रमुख वजह एनआईसी लखनऊ की वेबसाइट पर मात्र चार तहसीलों और उनके अधिकारियों से संबंधित विवरण दर्ज होना है। यदि सरोजनीनगर तहसील में रहने वाला कोई भी व्यक्ति अपना आय, जाति और निवास प्रमाण पत्र ऑनलाइन बनवाना चाहता है, तो उसे पांचवी तहसील का सॉफ्टवेयर और उससे संबंधित डाटा अपडेट होने का इंतजार करना पड़ेगा। यह साफ्टवेयर कब तक अपडेट होगा और क्षेत्र के लोगों को एनआईसी लखनऊ की वेबसाइट कब तक अपडेट मिलेगी, इसकी जानकारी देने वाला कोई नहीं है।
गौरतलब हो कि जिलाधिकारी राजशेखर ने 18 अगस्त 2015 को राम नारायण यादव को उप जिलाधिकारी सरोजनीनगर और राजेश कुमार श्रीवास्तव को तहसीलदार सरोजनीनगर बनाया है। पीआरडी भवन में उपजिलाधिकारी और तहसीलदार के साथ नायब तहसीलदार, कानूनगो और लेखपालों ने बैठकर कामकाज करना शुरू कर दिया है, लेकिन तहसील में कम्प्यूटर, साफ्टवेयर और अन्य संसाधनों के अभाव की वजह से समुचित रूप से काम नहीं हो पा रहा है। ऐसे में लोग काम की तलाश में अधिकारियों के कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं। वहीं पंचायत चुनाव नजदीक होने की वजह से तहसीलवार गांवों से संबंधित आनलाइन जानकारी हासिल करना भी मुश्किल हो गया है। जबकि सरोजनीनगर तहसील में करीब महीने भर से काम-काज शुरू हो चुका है। इसके बावजूद सरोजनीनगर तहसील से संबंधित कोई भी विवरण एनआईसी लखनऊ की वेबसाइट पर दर्ज नहीं है।

जिले की नई तहसील सरोजनीनगर से संबंधित डाटा सदर तहसील से अलग करने का काम पूरा हो चुका है। इस तहसील में काम-काज शुरू करने से संबंधित साफ्टवेयर भी अपडेट किया जा रहा है। उम्मीद की जा रही है कि बहुत जल्द सब कुछ नियमानुसार होने लगेगा। जहां तक एनआईसी लखनऊ की वेबसाइट पर नई तहसील से संबंधित विवरण और डाटा उपलब्ध होने की बात है, तो उसमें कम से कम महीने भर का समय लगेगा। इसके बाद ही एनआईसी की वेबसाइट पर सरोजनीनगर तहसील से संबंधित जानकारी मिलने लगेगी।
-इफ्तिखार कुरैशी
एनआईसी प्रभारी, लखनऊ

Pin It