एक सुंदर कपल और लखनऊ की सुहानी शाम

11कल शाम लखनऊ का मौसम बेहद सुहाना था। लोग अपने-अपने चाहने वालों के साथ लखनऊ की खूबसूरत जगहों पर सेल्फी खिंचवा रहे थे। इस मौसम ने सीएम अखिलेश यादव को भी अपनी पत्नी डिम्पल यादव के साथ फोटो खिंचवाने पर मजबूर कर दिया। सीएम आवास पर क्लिक की गई इस फोटो में जहां पीछे आसमान बेहद सुंदर लग रहा था वहीं यह कपल भी प्यार की नई दास्तां कहता नजर आ रहा था।

एसपी क्राइम लखनऊ का स्टेनो अवैध रिवॉल्वर बेचते गिरफ्तार

  • घटना की पुष्टि करने के लिए एसएसपी से लेकर आईजी तक सबको मिलाया फोन, किसी को नहीं फुर्सत फोन उठाने की

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। हसनगंज थाना क्षेत्र में एसपी क्राइम लखनऊ का स्टेनो अवैध असलहा बेचते हुए गिरफ्तार कर लिया गया। अपने विभाग के किसी व्यक्ति को कानून विरोधी गतिविधियों में लिप्त होने की वजह से पुलिस भी मामले को दबाने में जुटी है। वहीं पूरी रात पुलिस ने मामले में गिरफ्तार आरोपी स्टेनो को थाने में बंद कर पूछताछ की लेकिन उच्चाधिकारियों को इतने गंभीर मामले की भनक तक नहीं लगने दी।

उत्तर प्रदेश पुलिस और क्राइम ब्रांच जहां एक तरफ अपराधियों को पकडऩे का काम कर रहे है, वहीं विभाग के कुछ अफसर पूरे विभाग की छवि को तार-तार कर रहे है। ताज़ा मामला हसनगंज थाना क्षेत्र का है, जहां एसपी क्राइम का स्टेनो गुरुवार की शाम असलहा बेचते पकड़ा गया। पुलिस ने आरोपी स्टेनो के पास से असलहा भी बरामद कर लिया है। हसनगंज थाना क्षेत्र स्थित बब्बो वाली गली में स्टेनो राजकुमार अवस्थी को पुलिस ने असलहा बेचते समय पकड़ लिया। सूत्रों के मुताबिक आरोपी स्टेनो इससे पहले भी कई बार क्षेत्र में असलहा बेचते देखा गया था। लेकिन गुरुवार को जब स्टेनो अपने साथी से असलहे के पैसों के लेनदेन को लेकर मारपीट करने लगा, तो क्षेत्रीय लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ने मौके से असलहे के साथ आरोपी स्टेनो को गिरफ्तार कर लिया। थाना प्रभारी सुरेश कुमार यादव ने बताया कि आरोपी क्राइम ब्रांच में स्टेनो के पद पर तैनात है, जिसके पास से 0.32 बोर के पांच कारतूस और रिवॉल्वर बरामद की गयी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। हसनगंज थाना क्षेत्र में असलहा। बेचने वाले क्राइम ब्रांच के स्टेनो की गिरफ्तारी के सम्बन्ध में आईजी से लेकर एसएसपी तक को फोन किया गया, लेकिन किसी ने भी फोन उठाने की जहमत तक नहीं की।

सीएम अखिलेश ने आज फिर कहा शिवपाल से, मुख्तार को पार्टी में लाने से होगी देश भर में बदनामी

  • शिवपाल यादव आज मिले सीएम से और की एक घंटे बातचीत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। पिछले एक हफ्ते से राजनीतिक गलियारों में सीएम अखिलेश यादव और शिवपाल यादव के बीच मतभेद की खबरें चर्चा का विषय बनी हुई थीं। शिवपाल यादव के इस्तीफे के ऐलान और उसके बाद नेताजी का यह कहना कि शिवपाल के खिलाफ राजनीतिक साजिश हो रही है और चर्चाओं को बल दे गया। परसों जब शिवपाल कैबिनेट मीटिंग में नहीं पहुंचे तो और हंगामा मचा। इस बीच कल जब सीएम अखिलेश अपनी चचेरी बहन से राखी बंधवाने शिवपाल यादव के घर पहुंचे तो इन चर्चाओं पर विराम लगा। इसके बाद आज सुबह शिवपाल यादव सीएम से मिलने पहुंचे और एक घंटे तक दोनों के बीच लंबी गुफ्तगू हुई।

सूत्रों का कहना है कि सबसे बड़ा विवाद कौमी एकता दल के सपा में विलय को लेकर है। शिवपाल यादव ने यह विलय कराया था, मगर सीएम के अड़ जाने के बाद यह विलय टूट गया था। इससे शिवपाल यादव बेहद आहत हुए थे। ये नाराजगी छोटी-छोटी घटनाओं पर बढ़ती चली गई। कुछ दिन पहले शिवपाल यादव ने कहा था कि पार्टी के लोग जमीनों पर कब्जा कर रहे हैं और अफसर उनकी नहीं सुन रहे हैं, लिहाजा वह पार्टी से इस्तीफा दे देंगे। इसके बाद सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने शिवपाल का पक्ष लेते हुए कहा कि अगर शिवपाल बाहर चले गए तो सरकार और पार्टी दोनों के लिए बहुत परेशानी हो जाएगी। नेताजी के इस बयान के बाद चर्चा तेज हो गई कि कौमी एकता दल का सपा में विलय करा दिया जायेगा। सीएम इस बात पर अड़ गए कि मुख्तार अंसारी जैसे माफियाओं को पार्टी में शामिल कराने से देश भर में पार्टी की छवि पर खराब असर पड़ेगा।
सूत्रों का कहना है कि आज शिवपाल से एक घंटे की बातचीत में सीएम ने उन्हें समझाने की कोशिश की कि मुख्तार की पार्टी को शामिल कराने से भले ही कुछ सीटों पर फायदा मिल जाए, मगर देश भर में पार्टी की छवि पर बहुत खराब असर पड़ेगा।

 

 

Pin It