एक बार फिर रस्मअदायगी कर चला गया निगम दस्ता

लखनऊ। नगर निगम का अतिक्रमण अभियान सिर्फ रस्म अदायगी भर रह गया है। निगम दस्ता मौके पर पहुंचने से पहले ही दुकानदार अपनी दुकानें हटकार रफूचक्कर हो गये थे। दुकानदारों को अभियान की पहले से ही खबर कर दी गई थी। निगम का प्रवर्तन दस्ता जैसे ही महाराणा प्रताप मार्ग पर शनिवार को अतिक्रमण के विरुद्ध चलने वाले अभियान के लिए पहुंचा। उससे पहले ही लोगों ने वेज पराठा, चाय, कुल्चे और फास्ट फूड की दुकानें बंद कर भाग खड़े हुए। इसके बाद टीम ने रस्म अदायगी करते हुए सडक़ वाइएमसीए बिल्डिंग के बाहर रखे दुकानदारों के बर्तन, डब्बे व अन्य सामान जब्त कर लिए। टीम ने अवैध पार्किग में खड़े दर्जनों वाहनों का चालान किया। वहीं यहां लगी चाय और नानवेज दुकानों के बाहर रखे स्टूल उठा लिए। इसी प्रकार रेस्टोरेंट के बाहर रखी तंदूर भ_ी, खाने का काउंटर भी जब्त कर लिया। अभियान के दौरान क्षेत्रीय पुलिस बल व नगर निगम की टीम और यातायात पुलिस मौजूद रही।

नगर निगम में हुआ बड़े पैमाने पर फर्जीवाड़ा
लखनऊ। नगर निगम के एक कर्मी पर फर्जीवाड़ा करने के चलते नगर आयुक्त ने कार्रवाई करते हुए उसे बर्खास्त कर दिया है। अभी माना जा रहा है कि इस फर्जीवाड़े में कई और कर्मचारी शामिल हैं और उन पर भी निगम शिकंजा कसने की तैयारी कर रहा है। मामला नगर निगम के मार्ग प्रकाश विभाग का है, जहां तैनात पोर्टर अबरार हुसैन ने फर्जी तरीके से सन 1999 में रिवर बैंक कालोनी में नगर निगम की संपत्ति का पट्टा अपने नाम करवा लिया था। इसके लिए कर्मचारी ने वर्ष 2002 में लेखाधिकारी को पट्टे की 25 प्रतिशत फीस भी जमा कर दी। जबकि शेष 75 प्रतिशत फीस को नगर निगम सदन में पट्टे का प्रस्ताव पारित होने के बाद जमा करना था। नगर निगम के सदन में पट्टे के आवंटन का प्रस्ताव पारित ही नहीं हुआ। जबकि एक बार फिर अबरार हुसैन ने लेखाधिकारी की मिलीभगत से पट्टे के शेष 75 प्रतिशत शुल्क को भी जमा कर दिया। गलत तरीके से फीस जमा कराए जाने का मामला नगर आयुक्त उदयराज सिंह के सामने पहुंचा, जिसके बाद आरोपी अबरार हुसैन को निलंबित कर दिया गया था। लखनऊ नगर निगम के लेखा विभाग की मिलीभगत के चलते मामले की जांच कानपुर नगर निगम के अधिकारियों से करवाई गई। अधिकारियों ने जांच की और अबरार हुसैन को फर्जी तरीके से निगम की संपत्ति का पट्टा करने के आरोप में दोषी पाया। इस रिपोर्ट के बाद नगर आयुक्त उदयराज सिंह ने अबरार हुसैन को बर्खास्त कर दिया है और इस मामले में आरोपी का साथ देने वाले अन्य कर्मचारियों के खिलाफ भी जल्द कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा ने चुनाव आयोग से की शिकायत
लखनऊ। भाजपा ने प्रदेश सरकार के खिलाफ आचार संहिता का उल्लंघन करने की शिकायत चुनाव आयोग से की है। आरोप लगाया है कि सूबे की सरकार आचार संहिता लागू होने के बावजूद स्थानांतरण, नियुक्ति, साक्षात्कार और टेण्डर, आदि प्रक्रियाएं कर रही है। इसलिए पार्टी ने जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही किए जाने की मांग की है। भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग के समक्ष प्रदेश सरकार द्वारा आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत की है। प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी से चुनाव अधिसूचना जारी होने के बाद भी प्रदेश सरकार के दबाव में अधिकारियों द्वारा स्थानांतरण, नियुक्ति, साक्षात्कार, टेण्डर, आदि प्रक्रियाएं जारी रखने की शिकायत की है। चुनाव आयोग को की गई लिखित शिकायत में चार जनवरी के बाद बैक डेट में अभी भी आदेश निर्गत करने का उल्लेख किया गया है। भारतीय जनता पार्टी ने चुनाव आयोग से आदर्श आचार संहिता का पालन कराकर असंवैधानिक कार्यों पर रोक लगाने व दोषी अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग की है।

Pin It