एंटी कैंसर दवाओं में एलपी का खेल उजागर

  • दो साल में फर्जी तरीके से खरीदी 2.50 करोड़ की दवाएं 

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी के रेलवे अस्पताल समेत 13 स्थानों पर सीबीआई ने मंगलवार को छापेमारी की। इस दौरान सीबीआई ने 1.60 करोड़ रुपए की दवा और जमीन के कागज जब्त किए हैं। सीबीआई द्वारा की गयी यह छापेमारी रेलवे अस्पताल प्रशासन द्वारा वर्ष 2012 से 2014 के दौरान खरीदी गयी एंटी कैंसर दवाओं में घोटाले की जांच को लेकर था। इसलिए स्वास्थ्य महकमे में एलपी दवाओं को लेकर हड़कंप मचा हुआ है।
अस्पतालों में एलपी दवाओं की खरीद में दो साल के दौरान किए गए घोटाले की जांच करने के लिए सीबीआइ अधिकारियों की टीम मंगलवार को मंडल रेल अस्पताल पहुंची। इसके साथ ही सीबीआई की एक टीम रायबरेली भी गयी । सीबीआइ के अधिकारियों ने छापेमारी में 1.60 करोड़ रुपये बरामद किए हैं। साथ ही प्रापर्टी में निवेश के अलावा कई तरह के दस्तावेज भी सीज कर दिए हैं। सीबीआइ के अधिकारी अभी भी लखनऊ मण्डल में डेरा डाले हैं। रेलवे अस्पताल में जिस वित्तीय वर्ष के दौरान दवाओं के घोटाले की जांच की जा रही है, उस समय सीनियर डीएमओ डॉ.सुनीता गुप्ता, डॉ. यू बंसल और एक अन्य डॉक्टर सहित पैरामेडिकल स्टॉफ जुड़ा हुआ था। इन सब लोगों पर एलपी के खेल में बड़े घोटाले की तलवार लटक रही है। बताया जा रहा है कि इन दो सालों में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के विशेष अधिकार से लगभग 2.50 करोड़ रुपये की एंटी कैंसर दवाएं खरीदी गईं। डॉ. बंसल उस समय अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक थे। इनका साथ तीन दवा सप्लायरों ने भी दिया था। सीबीआइ ने इन तीनों सप्लायर की दुकानों, गोदामों, आवासों पर एक साथ छापेमारी की।

Pin It