इसे कहते हैं होशियारी

Capture

यह दृश्य देखने को मिला नाजा मार्केट में। जहां एक सज्जन ने अपना स्कूटर पार्किंग में नहीं लगाया क्योंकि वहां पैसे देने पड़ते हैं। इसलिये एक गली में अपना स्कूटर खड़ा कर दिया लेकिन वहां भी उसके सामने समस्या आती है कि उसकी सीट पर लोग बैठ जाते हैं। इससे बचने के लिये उसने स्कूटर की सीट पर ईंटें रख दी और चला गया अपना काम करने, जिससे उस पर कोई बैठने न पाये। इसे कहते हैं होशियारी…

Pin It