इलाहाबाद विवि के कुलपति बयान से पलटे कहा, मंत्रालय से हमेशा मिला सहयोग

  • बीते मंगलवार को वीसी ने एचआरडी पर हस्तक्षेप का लगाया था आरोप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
इलाहाबाद । इलाहाबाद यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रो. रतन लाल हंगलू ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के हस्तक्षेप वाले अपने बयान से पलटी मार ली है। इस संबंध में उन्होंने राज्यसभा के सभापति हामिद अंसारी को पत्र लिखकर सफाई दी है। वीसी ने कहा कि मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने उन्हें हमेशा सहयोग दिया है। वहीं मंत्रालय के अधिकारियों ने कभी भी कोई गतिरोध नहीं खड़ा किया। उन्होंने पूरे विवाद का ठीकरा मीडिया पर फोड़ते हुए कहा कि मेरे बयान को गलत ढंग से दिखाया है। कल प्रो. हांगलू ने अपने दफ्तर में बैठकर कामकाज भी निबटाया।
मंगलवार को इलाहाबाद विवि के वीसी प्रो. हांगलू ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के खिलाफ बयान देने के बाद चर्चा में आ गए थे। इतना ही नहीं उन्होंने इस्तीफा देने की भी बात कही थी। उनके इस बयान की गूंज संसद तक में सुनाई दी। लेकिन एक दिन बाद ही वे अपने बयान से पलट गए। अपने बयान से बैकफुट पर आएं प्रो. हांगलू ने वहीं मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी पर अपने विभाग के अधिकारियों का बचाव करते हुए कहा कि अधिकारी कभी भी विश्वविद्यालयों की स्वयत्ता में हस्तक्षेप नहीं करते। अब देखने वाली बात यह होगी कि प्रोफेसर हंगलू के इस ताजा बयान के बाद अब किस तरह की प्रतिक्रियाएं देखने को मिलती हैं।

Pin It