इलाज में लापरवाही बन रही मरीजों की मौत का कारण

  • अस्पताल के दोषी चिकित्सकों को बचाने में जुटा पूरा तंत्र

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। किंगजार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के सीवीटीएस विभाग में एक तरफ मरीजों के इलाज में लगातार लापरवाही सामने आ रही है। जिसका खामियाजा मरीजों को अपनी जान देकर चुकाना पड़ रहा है। वहीं केजीएमयू के कुलपति इन घटनाओं को रोकने की बजाय सीवीटीएस विभाग में घोटाले की जांच कराने में लगे है। कुलपति प्रो.रविकांत ने तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है। जो सीवीटीएस विभाग में हो रहे कारनामों का भंडाफोड़ करेंगी। इस जांच कमेटी में रिटायर आईएएस जीबी पटनायक को कमेटी का अध्यक्ष बनाया गया है।
इनके साथ यूरोलॉजी प्रमुख प्रो. एसएन शंखवार और एक अन्य सदस्य डॉ. गौरव चौधरी शामिल हैं। कमेटी एक माह में अपनी जांच रिपोर्ट कुलपति को सौंपेगी। जानकारों की माने तो विभाग के घोटालों के जांच के लिए तो कमेटी गठित हो गयी। लेकिन मरीजों के इलाज में हो रही लापरवाही के लिए जांच कमेटी अभी तक नहीं बनायी गयी है। ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि क्या घोटाले किसी की जान से ज्यादा मायने रखते हैं,या फिर किसी अपने को बचाने की कोशिश की जा रही है। बताते चले कि सीवीटीएस विभाग में पांच दिन पहले चिकित्सकों की लापरवाही से महिला मरीज की मौत हो गयी थी। बुधवार को ऑपरेशन के बाद फिर एक मरीज की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि महिला के दिल का वॉल्व खराब था।

Pin It