इन अफसरों को शर्म नहीं आती, खुद कुर्सियों पर और बच्चे जमीन पर

Captureइन तस्वीरों को देखकर आपको भी समझ में आ जायेगा कि अगर इस तरह के नाकारा अफसर हों तो सरकार की छवि कभी भी अच्छी नहीं बन सकती। आज चिडि़य़ाघर में वन्य प्राणि सप्ताह मनाया जा रहा था। राज्यस्तरीय समारोह की शुरुआत के लिये बड़ी संख्या में अफसर और गणमान्य लोग बुलाये गये थे। कार्यक्रम में प्रमुख सचिव वन डॉ. संजीव शरण समेत कई अफसर मंच पर कुर्सियों पर बैठे थे। कार्यक्रम में कुछ बच्चों को भी बुलाया गया था। भले ही इस सप्ताह को मनाने के लिये विभाग लाखों रुपये खर्च के फर्जीवाड़े के बिल लगाकर पैसा कमा ले मगर इन नाकारा अफसरों को इतना खयाल नहीं आया कि इन बच्चों के लिये भी वहां कुर्सियां डलवा दी जायें। स्कूल के बच्चों को इन कुॢसयों के बराबर में जमीन पर बैठा दिया गया। कार्यक्रम चलता रहा और अफसरों ने एक बार भी यह कोशिश नहीं की कि बच्चे भी कुर्सी पर बैठ जायें। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनकी सांसद पत्नी डिंपल यादव बच्चों के विकास के लिये कई योजनायें चलाने की शुरुआत कर चुके हैं। मगर इस तरह के अफसर उनके इरादों पर पानी फेरने का काम जरूर कर रहे हैं। फोटो : सुमित कुमार

Pin It