आरएसएस को सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय देना सेना का अपमान: माया

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
captureलखनऊ। बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा है कि सर्जिकल स्ट्राइक का श्रेय प्रधानमंत्री और आरएसएस को देना सेना के पराक्रम का अपमान है। मनोहर पर्रिकर का बयान बेहद निंदनीय है। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सर्जिकल स्ट्राइक का लाभ लेना भी उतना ही गलत है, जितना पर्रिकर द्वारा आरएसएस को इसका श्रेय देना।
बीएसपी प्रमुख ने कहा कि सभी जानते हैं कि आरएसएस एक सर्वमान्य संस्था नहीं है। इसका एजेंडा घृणा, नफरत, विभाजन और विघटन पर आधारित है। खुद को सांस्कृतिक संस्था बताने वाले आरएसएस के लोग हमेशा राजनीतिक मकसद से बीजेपी के लिए काम करते हैं। अब तो आरएसएस के लोग बीजेपी सरकार में भी शामिल हैं। वह बोलीं, सर्जिकल स्ट्राइक पूरी तरह सैनिक कार्रवाई थी। इसकी आड़ में राजनीतिक रोटी सेंकना देश हित में नहीं है। सेना के हौसले बुलंद रखना देशवासियों की जिम्मेदारी है। गौरतलब है कि रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने एक कार्यक्रम के दौरान बयान दिया था कि पाकिस्तान के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक की हिम्मत आरएसएस में मिली ट्रेनिंग की वजह से आई है। चूंकि प्रधानमंत्री भी आरएसएस से जुड़े हैं, इसलिए पाकिस्तान के खिलाफ कड़ा फैसला लेने में काफी सहयोग मिला।

Pin It