आयुष का होगा तेजी से विकास : श्रीपद नाईक

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। आयुष हमारी सैकड़ों वर्ष पुरानी पद्धति है। जटिल से जटिल बीमारी इससे ठीक हो जाती है। योग तो सबसे बड़ा वरदान है। पूरा विश्व योग से लाभ उठा रहा है। केन्द्र सरकार पूरे देश में आयुष का तेजी से विकास करने के लिए प्रतिवद्ध है।
यह बातें केन्द्रीय आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने आज केजीएमयू के कंवेंशन सेंटर में बतौर मुख्य अतिथि आयुष डॉक्टरों के सम्मेलन में कही। उन्होंने कहा कि भारत सरकार प्राचीन चिकित्सा पद्वति को फिर से अपना मुकम्मल स्थान दिलाने के लिए प्रयासरत है। सरकार आयुष को लगातार बढ़ाने के लिए तत्पर है। मोदी सरकार के दबाव में ही यूएन ने 21 जून को अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस घोषित किया है। इसके आलावा आयुर्वेंद और यूनानी व होम्योपैथी चिकित्सा पर जोर-शोर से काम किया जा रहा है।
उन्होंने आयुष डॉक्टरों की सभी मांगें पूरी करने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर आयुष राज्यमंत्री उत्तर प्रदेश शासन केपी सिंह चौहान भी मौजूद रहे। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री श्रीपदनाईक उपस्थित रहे।

आयुष डॉक्टरों ने बनाया रिकार्ड
आयुष राज्यमंत्री केपी चौहान ने कहा कि 4443 संविदा आयुष चिकित्साधिकारियों ने वित्तीय वर्ष 2014-15 में प्रदेश के एक करोड़ 60 लाख से अधिक मरीजों को आयुष विधा से इलाज किया जो कि एक रिकार्ड है। इसके साथ ही संविदा आयुष चिकित्सकों ने सरकारी स्कूलों और आंगनबाड़ी के लाखों बच्चों का परीक्षण एवं इलाज कर सूबे की जनता को लाभ पहुंचाया है।

क्या हैं मांगे

  • संविदा आयुष चिकित्साधिकारियों को नियमित किये जाने एवं उन्हें एलोपैथिक चिकित्सा का अधिकार दिये जाय।
  • प्रदेश में आयुष के बजट को बढ़ाया जाय
  • राष्ट्रीय आयुष मिशन में वर्तमान संविदा आयुष चिकित्साधिकारियों को सम्मिलित किया जाय।
  • आयुष चिकित्सकों को समान कार्य हेतु समान वेतन या जाय।
Pin It