आप व टीएमसी ने किया प्रदर्शन

शकूरबस्ती में झुग्गियां गिराने पर सियासत गर्म

Captureदिल्ली। दिल्ली के शकूरबस्ती में झुग्गियों को उजाडऩे जाने को लेकर सियासी घमासान शुरू हो गया है। आम आदमी पार्टी और तृणमूल कांग्रेस इस मुद्दे को संसद में उठाने की तैयारी में हैं। इसके लिए उन्होंने स्थगन प्रस्ताव दे रखा है। साथ ही तृणमूल कांग्रेस और आप के सांसद संसद भवन परिसर में गांधी प्रतिमा के सामने धरना भी दे रहे हैं।
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी शकूरबस्ती जाकर पीडि़तों से मिले। रेलवे ने दिल्ली के शकूरबस्ती में नए टर्मिनल के लिए 500 झुग्गियां उजाड़ दी हैं। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा है कि सरकार को हटाने से पहले लोगों के लिए कुछ इंतजाम करना चाहिए था। वहीं दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि रेलवे प्रोजेक्ट का बहाना बना रहा है। दिल्ली से शकूरबस्ती इलाके में रहने वाले हजारों लोगों की दूसरी रात भी ठिठुरती ठंड में खुले आसमान के नीचे ही बीती। रेलवे ने शनिवार की सुबह इन लोगों की झुग्गियों को बुलडोजर से जमींदोज कर दिया था। यहां रहने वाले कुछ लोगों ने अस्थायी छत का इंतजाम तो कर लिया, लेकिन ज्यादातर ने पूरी रात यहां के लोगों ने अलाव के सहारे ही काटी।

रेलवे ने दी सफाई

रेलवे की सफाई है कि जिस जमीन पर झुग्गियां हैं, वहां नया यात्री टमिर्नल बनना है। लोगों को 9 महीने से लगातार नोटिस दिए जा रहे हैं, लेकिन किसी ने भी जमीन खाली नहीं की। रेलवे का ये भी दावा है कि बच्ची की मौत सुबह 10 बजे हुई, जबकि अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई दोपहर 12 बजे हुई। नॉर्दन रेलवे के डीआरएम अरुण अरोड़ा ने बताया कि नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल का भी साफ आदेश है कि रेलवे लाइन या उसके आसपास किसी तरह की गंदगी या मलबा नहीं होना चाहिए। रेलवे ने बयान में भी कहा है कि अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई शुरू होने से पहले ही बच्ची की मौत हो गई थी।

Pin It