आपत्तियां नहीं मिलीं तो 15 दिसंबर से प्रभावी हो जायेंगी नई दरें

खेतिहर व आवासीय सम्पत्तियों के मूल्यांकन में जुटा प्रशासन

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

Captureलखनऊ। जिले में खेतिहर व आवासीय सम्पत्तियों के मूल्यांकन की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। सम्पत्तियों के मूल्यांकन की प्रस्तावित दरों पर क्षेत्रीय लोगों की तरफ से आपत्तियां मांगी गई है लेकिन अब तक किसी का भी सुझाव व आपत्तियां नहीं आई हैं। यदि 14 दिसंबर तक आपत्तियां नहीं आईं, तो खेतिहर और आवासीय क्षेत्र में प्रस्तावित दरें 15 दिसंबर से प्रभावी हो जायेंगी।
अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व धनंजय शुक्ला के मुताबिक जिले में खेतिहर और आवासीय सम्पत्तियों के मूल्यांकन की पुनरीक्षित दरों का प्रस्ताव तैयार हो चुका है। यह समस्त उप निबन्धकों के कार्यालयों में उपलब्ध है। प्रस्तावित दरों के बारे में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व कार्यालय, उपनिबंधक कार्यालय पहुंचकर जानकारी ली जा सकती है। इसके अतिरिक्त सम्पत्तियों के मूल्यांकन की प्रस्तावित दरें लखनऊ की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। यदि प्रस्तावित दर सूची पर कोई सुझाव व आपत्ति देना हो तो 12 दिसम्बर की शाम 5 बजे तक अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, सहायक महानिरीक्षक-निबन्धन प्रथम, द्वितीय व समस्त उप निबन्धकों के कार्यालयों में दे सकते हैं। सम्पत्ति मूल्यांकन के संबंध में आने वाली आपत्तियों पर 14 दिसम्बर को कलेक्ट्रेट सभागार में सुनवाई के बाद निस्तारण किया जायेगा। ये अलग बात है कि अब तक खेतिहर और आवासीय सम्पत्तियों के मूल्यांकन पर कोई भी आपत्ति व सुझाव नहीं आया है।

Pin It