‘आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई’

वाल राइटिंग, होर्डिग्स, बैनर, पोस्टर व कटआउट लगाना प्रतिबन्धित

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अपर जिलाधिकारी प्रशासन व उपजिला निर्वाचन अधिकारी राजेश कुमार पाण्डेय ने चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई का निर्णय लिया है। इसलिए आचार संहिता लागू होने के बाद किसी भी संस्था, निकाय, प्रत्याशी, कार्यकर्ताओं, समर्थकों और सहानुभूतिकर्ताओं को मानकों का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया है। यदि मानकों का पालन नहीं होगा, तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी।
उप जिला निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक जनसामान्य की सुविधाको ध्यान में रखकर राजमार्गो पर लगा मार्ग संकेतक अथवा मार्गो को विभाजित करने वाले चैराहों, राजमार्गो की दूरी दर्शाने वाले पत्थरों, सावधानी दर्शित करने वाले रेलवे क्रासिंग के सूचना पट्टों, रेलवे प्लेटफार्म पर नामों की सूचना पट्टिकाओं, बस अड्डों अथवा सार्वजनिक स्थलों को दर्शित करने वाले साईनबोर्डों आदि जो सार्वजनिक भवन की श्रेणी में आयेंगे, उन पर भी बैनर पोस्टर, कट आउट और पर्चे लगाना और लिखवाने की कार्यवाही नहीं की जायेगी। इसी प्रकार पंचायत घर, प्राइमरी पाठशाला, एएनएम सेन्टर, सामुदायिक केन्द, सरकारी गोदाम तथा ग्रामीण क्षेत्र की सडक़ों पर भी होर्डिंग्स, बैनर, पोस्टर व कटआउट आदि लगाया जाना पूर्णतया प्रतिबन्धित कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि यदि किसी प्रत्याशी के प्रचार में उसकी ओर से होर्डिंग्स, बैनर, पोस्टर, कट आउट आदि सरकारी सम्पत्तियों पर लगाया जाना पाया जाता है, तो उसे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जायेगा और सम्बन्धित प्रत्याशी के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार चुनाव प्रचार के लिए किसी अन्य व्यक्ति की भूमि, भवन, अहाते या दीवार का उपयोग सम्बन्धित भवन, भू स्वामी की लिखित अनुमति के बाद ही किया जायेगा। यदि बिना अनुमति के झंडा एवं बैनर लगाया जाता है, तो वाल राइटिंग पूर्णतया प्रतिबन्धित है।

Pin It