अस्पताल लाये गये कैदी ने सिपाहियों पर झोंका फायर

  • कैदी ने भागने का किया प्रयास एचसीपी और बंदीरक्षक सस्पेंड
  • सीओ लाइन करेंगे मामले की जांच

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी स्थित जिला जेल से इलाज के लिए अस्पताल लाए गए कैदी अंकुर सिंह पुत्र मुक्तेश्वर ने सिपाहियों पर गोली चलाई और भागने का प्रयास किया। सूचना पर भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा। कैदी को हिरासत में लेकर जेल भेज दिया गया है। वहीं, एचसीपी व बंदीरक्षक को सस्पेंड कर दिया गया है।
जानकारी के मुताबिक गोसाईगंज थाना क्षेत्र स्थित जिला जेल से अंकुर सिंह पुत्र मुक्तेश्वर को केजीएमयू/ बलरामपुर जिला चिकित्सालय ले जाने के लिए जिला कारागार वाहन संख्या यूपी 41 जी 0455 चालक नईम उल्ला, बंदी रक्षक परशुराम तथा 4 गार्ड जिलाकारागार व पुलिस लाइन से एचसीपी धनीराम, आरक्षी मसूद अहमद, आरक्षी ब्रजकिशोर दीक्षित और आरक्षी रामकिशोर की कस्टडी में रवाना किया गया। सूत्रों के मुताबिक अंकुर को एचसीपी धनीराम जब उपचार के लिए ले गया तो किसी महिला ने अस्पताल में कैदी को एक बैग दिया। लेकिन एचसीपी धनीराम ने न महिला द्वारा बंदी को बैग दिए जाने से रोका न ही उसे चेक किया। लौटते समय करीब 3.15 बजे वाल गाइड स्कूल थाना गोसाईगंज के पास बंदी ने 32 बोर के दो तमंचे निकाल लिए और फायर झोंक दिया। कैदी ने भागने का प्रयास किया। पुलिस कर्मियों ने उसे मौके पर ही दबोच लिया। थाना गोसाईगंज में बंदी अंकुर के विरुद्ध आम्र्स एक्ट और अभिरक्षा से फरार होने के प्रयास के मामले में अभियोग दर्ज किया गया है। एचसीपी धनीराम को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया तथा बंदी रक्षक परशुराम को निलम्बित करने के लिए जिला कारागार अधीक्षक को निर्देशित किया गया। वहीं सुरक्षा में लगे शेष पुलिस कर्मियों की प्रारंभिक जांच सीओ लाइन को दी गयी है। बताया जा रहा है कि अंकुर इससे पहले भी भागने का प्रयास कर चुका है, लेकिन पुलिस की सतर्कता के कारण वह कामयाब नहीं हो पाया था।

Pin It