अस्पताल के गेट पर तड़पती रही प्रसूता

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एक तरफ सरकार प्रसूताओं के स्वास्थ्य सुरक्षा के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। वहीं दूसरी तरफ धरती के तथाकथित भगवान की संवेदनहीनता कम होने का नाम नहीं ले रही है। गोसाईगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र के गेट पर 12 किलोमीटर दूर से आई गर्भवती महिला सात घण्टे तक तड़पती रही। ऐसा तब हुआ जब महिला चिकित्सक से लेकर अधीक्षक तक अपने कमरों में मौजूद थे। लोनीकटरा बाराबंकी के जौरास गांव के मनोज अपनी पत्नी राजेश्वरी को लेकर सुबह 6 बजे गोसाईंगंज सीएचसी पहुंचे थे। यहां ड्यूटी पर तैनात डॉक्टर व नर्स ने प्रसूता को भर्ती करने के बजाय भगा दिया। मनोज व उनके साथ आये परिजन प्रसूता को लेकर अस्पताल से बाहर चले गए। सीएचसी गेट के पास ही दोपहर एक बजे तक महिला दर्द से पड़ी तड़पती रही।

Pin It