अस्पतालों में वायरल बुखार से पीडि़त रोगियों की संख्या बढ़ी

  • सिविल, बलरामपुर व लोहिया अस्पताल की ओपीडी में जुट रही  भयंकर भीड़

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। राजधानी में बीते दो दिनों से जमकर बारिश हो रही है। जिसके चलते लोहिया, सिविल व बलरामपुर अस्पताल की ओपीडी में 30 फीसदी बच्चे वायरल फीवर व टायफाइड के आ रहे हैं। चिकित्सकों के मुताबिक बच्चे, युवा व बुजुर्ग हर कोई इन बीमारियों की चपेट में है। लोहिया अस्पताल के चिकित्सकों की मानें तो वायरल बुखार ने लोगों को इस प्रकार से चपेट में लिया है कि पूरा का पूरा परिवार इलाज के लिए अस्पताल आ रहा है। सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ आशुतोष दूबे के मुताबिक इस समय जिस तरह से मौसम बदल रहा है, वह बच्चों की सेहत के लिए हानिकारक है। ओपीडी में सिर दर्द, बदन दर्द व वायरल फीवर के मरीज बढ़े हैं। वहीं डायरिया के मरीज भी आने लगे हैं। ऐसे में लोगों को सेहत के प्रति सचेत रहने की जरूरत है।
मौसम बदलने के साथ ही सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में बुखार के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। दिन और रात के तापमान में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। बरसात की वजह से जलजमाव और पानी में मच्छरों के पनपने की वजह से भी बीमारियां फैल रही हैं। इसमें डायरिया, बुखार और पेट संबंधी बीमारियां अधिक हो रही हैं। इसमें सबसे अधिक वायरल फीवर से मरीज अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। सिविल अस्पताल की ओपीडी में फिजिशियन चिकित्सकों के पास आने वाले मरीजों में 40-50 फीसद मरीज बुखार, खांसी और जुकाम से पीडि़त हैं। इसी प्रकार बलरामपुर अस्पताल की ओपीडी में बाल रोग और फिजिशियन चिकित्सकों के पास इलाज के लिए आने वाले 35-40 फीसदी बच्चों को बुखार और डायरिया की शिकायत है। ऐसे में हमें सावधान रहने की जरूरत है। घरों से आस-पास सफाई व्यवस्था रखें और तबीयत बिगडऩे पर तुरंत चिकित्सक का परमार्श लेकर दवा लें।

Pin It