असहमति की आवाज दबा रही भाजपा सरकार: अखिलेश

असहमति की आवाज दबा रही भाजपा सरकार: अखिलेश

सपा के शांतिपूर्ण प्रदर्शन पर लाठीचार्ज अलोकतांत्रिक
सत्ता के मद में चूर भाजपा सरकार दायित्व का नहीं कर रही निर्वहन

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि नीट और जेईई की परीक्षा कराने के भाजपा की केन्द्र सरकार के निर्णय के विरोध में लखनऊ में राजभवन के सामने प्रदर्शन कर रहे सपा के युवा संगठनों के शान्तिपूर्ण प्रदर्शन पर बर्बर लाठीचार्ज लोकतंत्र की हत्या है। भाजपा की राज्य सरकार का यह कृत्य अलोकतांत्रिक है और असहमति की आवाज को दबाने का संविधान विरोधी कदम है। भाजपा इससे बेनकाब हो गई है।
उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने शान्तिपूर्ण प्रदर्शन पर अपनी क्रूरता का नंगानाच कर युवाओं की आवाज को कुचलने का काम किया है। पुलिस ने लक्ष्य बनाकर युवा कार्यकर्ताओं पर अमानुषिक लाठीचार्ज किया है। पुलिस निर्दोषों पर लाठी चलाकर शायद अपने को गौरवान्वित महसूस करती है। भाजपा सरकार के लिए पुलिस लाठीचार्ज सुखी होने का क्षण होता है। इस सरकार को यह अन्यायपूर्ण आचरण मंहगा पड़ेगा। उन्होंने कहा कि नकारात्मक व हठधर्मी बदले की राजनीति करने वाली भाजपा व उसकी सहयोगी पार्टियों के खिलाफ देश में एक नई युवा क्रान्ति जन्म ले रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी का भय और असुविधा के कारण पूरी एकाग्रता से परीक्षा दे पाना सम्भव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बेरोजगारी से जूझ रहे युवा तथा कोरोना, बाढ़ एवं अर्थव्यवस्था की बदइंतजामी से त्रस्त गरीब, निम्न मध्यम वर्ग युवाओं और अभिभावकों के खिलाफ प्रतिशोधात्मक कार्रवाई कर रही है। भाजपाई सत्ता के मद में चूर होकर जनतांत्रिक मान्यताओं एवं अपने संवैधानिक दायित्व का भी निर्वहन नहीं कर रहे हैं।

पढ़ाई के लिए डांटा तो छात्रा ने लगा ली फांसी

पुलिस कर रही जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। ठाकुरगंज क्षेत्र के सरीपुरा कनक सिटी में 11वीं की छात्रा रोशनी (16) ने गुरुवार को फांसी लगा ली। घर के अंदर कमरे में फंदे पर उसका शव लटका मिला। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।
इंस्पेक्टर ठाकुरगंज के मुताबिक सरीपुरा कनक सिटी निवासी विजय सिंह की बेटी 11वीं की छात्रा थी। गुरुवार रात उसकी मां ने पढ़ाई को लेकर उसे डांट दिया। इसके बाद वह कमरे में गई और उसने फांसी लगा ली। कुछ देर बाद परिवारीजनों ने कमरे में फंदे से रोशनी को लटका देखा तो उनकी चीख निकल पड़ी। चीख सुनकर दौड़े परिवारीजनों ने फंदे से रोशनी को उतारा और अस्पताल लेकर पहुंचे। अस्पताल में डॉक्टरों ने रोशनी को मृत घोषित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *