अव्यवस्था से परेशान हुये छात्र

बीबीए व बीकॉम की काउंसिलिंग

  • प्रवेश हो न हो काउंसिलिंग के लगेंगे 500
  • पानी व बैठने की व्यवस्था न होने से अभिभावक रहे परेशान

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लखनऊ विश्वविद्यालय के नवीन कैंपस में बीबीए व बीकॉम के 280 सीटों पर प्रवेश के लिए काउंसिलिंग में 1700 छात्रों को बुलाया गया, पर इस भीषण गर्मी में न तो पानी की व्यव्स्था की गई और न ही बैठने की। दूर-दराज से आए छात्र व अभिभावक पूरे दिन परेशान रहे। इतना ही नहीं छात्रों ने बताया कि काउंसिलिंग के नाम पर उनसे 500 रुपए भी लिए गए है। छात्रों का यह भी आरोप था कि मेरिट के आधार पर हो रहे प्रवेश का कोई मानक नहीं बनाया गया है।

प्रवेश समन्वयक प्रो. अरविंद मोहन के अनुसार बीकॉम आनर्स, बीबए आईबी, बीबीए और बीबीए एमएस की 280 सीटों पर दाखिले के लिए काउंसलिंग हुई है, जिसमें पहले दिन ही 200 सीटें फुल हो गई है। बीकॉम आनर्स की एससी-एसटी वर्ग की सीटें खाली बची हुई हैं। पूर्व घोषित कार्यक्रम कार्यक्रम के अनुसार रिजर्व कैटेगरी की सीटें खाली रहने पर ओपन कैटगरी में कन्वर्ट की जाएंगी। ये तो हुई सीटों की बात। सोमवार को कैंपस में काउंसिलिंग में व्याप्त अवस्था से अभिभावक काफी उग्र दिखे। कई छात्रों ने तो धांधली का भी आरोप लगाया। जब कैंपस में अभिभावक व छात्र उग्र होने लगे तो इस समस्या को संज्ञान में लेते हुए एबीवीपी के अनुराग तिवारी ने विवि प्रशासन से बात कर काफी देर के बाद मामले को शान्त किया।

छात्रों से काउंसिलिंग लिए गए 500 रुपए
बीकॉम आनर्स और बीबीए की काउंसिलिंग के लिए कुल 1700 छात्रों को बुलाया गया था। कुछ कैटेगरी में सीट फुल होने के बाद भी छात्रों को बताया नहीं गया और उनसे 500 रुपए काउंसिलिंग के नाम पर लिया गया। छात्रों का कहना था कि उन लोगों को पता होने के बाद भी यह नहीं बताया कि सीट भर गयी है बल्कि छात्रों से काउंसिलिंग के नाम पर पैसे ले लिए। जब हम लोगों ने हंगामा किया तब जाकर हम लोगों को सीट की जानकारी दी गयी। कानपुर के सजंय अग्रवाल का कहना था कि मैं अपनी बेटी का बीकॉम ऑनर्स में प्रवेश के लिए आया था। जब उससे 500 रुपये लिये गये तो उस समय तक सीट फुल हो चुकी थी और जब इस पर हम लोगों ने विरोध किया तो हमें दी हुई रसीद भी ले ली गयी।

वाटर कूलर तो था पर नहीं था उसमें पानी
दूर-दराज से आए छात्र और अभिभावकों के लिए इस गर्मी में पानी तक का कोई इंतजाम नही था। विवि प्रशासन ने 6 वाटर कूलर तो लगाया था पर उसमें पानी नहीं था। प्यास बुझाने के लिए छात्रों व अभिभावकों को बाहर से पानी खरीद कर लाना पड़ा। यहां तक की सुबह से आये लोगों के बैठने के लिए कुर्सी भी कम थी। और तो और मेंन गेट पर ताला भी लगा रखा था।

Pin It