अव्यवस्था फैलाने वालों के खिलाफ हो कठोर कार्रवाई: अखिलेश यादव

कानून-व्यवस्था बनाए रखना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता
कर्तव्य पालन में शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश याCaptureदव ने कानून और व्यवस्था की समीक्षा करते हुए कहा कि समाज में अव्यवस्था फैलाने वालों से सख्ती से निपटा जाए। उन्होंने प्रदेश में शान्ति व्यवस्था को प्रभावित करने वाले तत्वों के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों को चिन्हित करते हुए उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए।
मुख्यमंत्री ने स्पष्ट तौर पर कहा कि प्रत्येक दशा में कानून-व्यवस्था बनाए रखना राज्य सरकार की पहली प्राथमिकता है और इसके साथ कोई समझौता नहीं किया जा सकता। राज्य सरकार अमन-चैन का माहौल कायम रखने के लिए कटिबद्ध है, ताकि प्रदेश का चहुमुखी विकास किया जा सके। सरकार ने पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों को कानून-व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त बनाये रखने के निर्देश पहले ही दे रखे हैं। ऐसे में इन अधिकारियों की यह जिम्मेदारी है कि वे कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए अपने स्तर से प्रभावी कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि किसी भी जिले की कानून-व्यवस्था के लिए वहां के जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक ही जिम्मेदारी होंगे। उन्होंने आगाह किया कि कर्तव्यपालन में शिथिलता बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश आबादी के लिहाज से देश का सबसे बड़ा राज्य होने के साथ-साथ राजनैतिक रूप से भी काफी महत्वपूर्ण प्रदेश है। इसलिए यहां की घटनाओं पर लोगों की निगाह बनी रहती है। कानून-व्यवस्था और अपराध नियंत्रण में पुलिस की प्रमुख भूमिका से अवगत होने के कारण राज्य सरकार पुलिस को सभी जरूरी संसाधन उपलब्ध कराने के लिए लगातार कार्य कर रही है। बैैठक में अधिकारियों द्वारा मुख्यमंत्री को यह जानकारी दी गई कि पुलिस बल के संसाधनों को सुदृढ़ करने के लिए अनेक कदम उठाए गए हैं। पुलिस विभाग को 46 भारी वाहन, 2 हजार 608 हल्के चारपहिया वाहन, 665 मोटर साइकिलें उपलब्ध करायी गयी हैं। पुलिस की परस्पर संचार प्रणाली को और बेहतर

बनाने के उद्देश्य से थानों में तैनात सभी उपनिरीक्षकों तथा पुलिस विभाग की विभिन्न इकाइयों में तैनात निरीक्षकों एवं उपनिरीक्षकों को 23 हजार से अधिक सी.यू.जी. सिम स्वीकृत किये गये हंै। सभी 1520 थानों को दो-दो चार पहिया वाहनों से लैस करने की योजना है।

Pin It