अल्पकालिक शिक्षक होंगे नियमित

Capture 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की अध्यक्षता में आज कैविनेट की बैठक हुई जिसमें करीब दो दर्जन विभागीय प्रस्तावों पर मुहर लगी। बैठक में अल्पकालिक शिक्षकों को बड़ा तोहफा मिला है। अगस्त 1993 से लेकर 30 दिसंबर 2000 के बीच के तदर्थ शिक्षक नियमित होंगे। इसके अलावा कन्या विद्या धन के मसौदे पर भी मुहर लगी है।

कैबिनेट की बैठक में आज कई अहम प्रस्ताव को स्वीकृति मिली। बैठक में मान्यता प्राप्त संस्कृत स्कूलों-कालेजों को अनुदान संबंधी प्रस्ताव पास हुआ। इस अवसर पर मंत्री आजम खान, शिवपाल सिंह यादव, गायत्री प्रजापति, अहमद हसन, नारद राय, पारस नाथ यादव के अलावा प्रशासन के वरिष्ठï अधिकारी भी उपस्थित रहे।

  • अगस्त 93 से 30 दिसंबर 2000 के बीच के तदर्थ शिक्षक होंगे नियमित।
  • अगस्त 1993 से 25 जनवरी तक रखे गये अल्पकालिक शिक्षक भी नियमित।
  • संशोधित कन्या विद्याधन के मसौदे पर भी लगी मुहर, यूपी बोर्ड के अलावा अब कन्या विद्याधन में सीबीएससी, आईसीएसी बोर्ड,
  • मदरसा और संस्कृत शिक्षा परिषद की छात्रायें भी होंगी शामिल।
  • लखनऊ से बलिया होते हुये आजमगढ़ तक प्रस्तावित है एक्सप्रेस-वे
  • परियोजना विकास परामर्शी के चयन संबंधी प्रस्ताव पास
  • हिन्दी फिल्म मसान होगी यूपी में टैक्स फ्री।
  • जमीन हस्तांतरण संबंधी प्रस्ताव पर लगी मुहर।
  • लखनऊ आगरा एक्सप्रेस-वे के रास्ते में आने वाली जमीन यूपीडा को मिलेगी।
  • जिला पर्यटन प्रोत्साहन परिषद का सरकार करेगी गठन।
  • केजीएमयू के हृदय विभाग को मिलेगा विस्तार।
  • यूपी राज्य स्तरीय शिक्षक पुरस्कार को सरकार करेगी लागू।
  • मान्यता प्राप्त संस्कृत स्कूलों-कालेजों को अनुदान संबंधी प्रस्ताव।
  • आयुष सोसाइटी का होगा गठन।
  • सूबे के राज्यमार्ग एक बार फिर होगे पीडब्ल्यूडी विभाग के हवाले।
  • डायल 100 सेवा पर प्रस्ताव पास।
  • केजीएमयू में 24 घंटे के लिए अलग से व्यवस्था।
  • नई एनेक्सी का नाम होगा मुख्यमंत्री कार्यालय।
Pin It