अमेठी में निकाली गयी राहुल की शवयात्रा

जेएनयू में दिये बयान के विरोध में हुआ प्रदर्शन

Capture4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। जेएनयू में देश विरोधी नारेबाजी का विवाद गांधी परिवार के गढ़ अमेठी तक पहुंच गया है। शनिवार को राहुल गांधी के गढ़ कहे जाने वाले अमेठी में उनकी शवयात्रा निकाली गयी। इस शवयात्रा को पूरे कस्बे में घुमाने के बाद सागर तिराहे पर फूंक दिया गया।
जहां पर लोग राहुल विरोधी नारे भी लगा रहे थे।
गौरतलब है कि राहुल गांधी शनिवार को जेएनयू पहुंचे थे। जिसके विरोध में यह शवयात्रा निकाली गयी थी। इसके साथ ही इस प्रतीकात्मक शव यात्रा में उनके खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई। प्रदर्शनकारियों का कहना था कि देश विरोधी लोगों का समर्थन करके राहुल ने अमेठी के साथ-साथ पूरे देश को शर्मसार कर दिया है। गौरतलब है कि राहुल गांधी शनिवार को जेएनयू पहुंचे थे। जहां पर भी उन्हें काले झण्डे दिखाये गये थे। राहुल ने यहां स्टूडेंट यूनियन प्रेसिडेंट कन्हैया कुमार की गिरफ्तारी को गलत बताया था। राहुल ने यहां कहा कि ‘सबको अपनी बात कहने का हक। आवाज दबाने वाला देशद्रोही है। बीजेपी और आरएसएस आवाज दबा रहे हैं। हिटलर भी खुद को देश भक्त बताता था। जब मैं हैदराबाद गया था तब भी मेरा विरोध हुआ था। किसी ने रोहित वेमुला को भी देशद्रोही
बताया था।’

Pin It