अमीनाबाद में पीली पट्टी खींचे बिना वापस लौटी टीम

झंडेवाला पार्क से लेकर अमीनाबाद तक के दुकानदारों ने किया जमकर विरोध

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। अमीनाबाद में सडक़ों के किनारे से अतिक्रमण हटवाने और पीली पट्टी खींच कर पटरी दुकानदारों को व्यवस्थित करने की योजना फेल हो गई है। क्षेत्र के व्यापारियों ने पटरी दुकानदार समिति के अध्यक्ष पर दुकानदारों को बरगलाने और उनसे लाभ लेने का आरोप लगाया और नगर निगम की कार्रवाई का विरोध किया। इसलिए गुरुवार को अमीनाबाद पहुंचा नगर निगम का दस्ता व्यापारियों के विरोध की वजह से वापस लौट गया। साथ सडक़ों के किनारे पीली पट्टी खींचने की कोशिशों पर भी पानी फिर गया है।
जोनल अधिकारी अशोक सिंह के नेतृत्व में गुरुवार को नगर निगम का अतिक्रमण हटाओ दस्ता अमीनाबाद पहुंचा। वहां सडक़ों के किनारे लगी दुकानों को हटवाने और सडक़ के किनारे पीली पट्टी खींचने की योजना बनाने लगे। इस बात की जानकारी होते ही सैकड़ो व्यापारी इकट्ठा हो गये। इन दुकानदारों ने अतिक्रमण हटवाने की कार्रवाई का विरोध करना शुरू कर दिया। दुकानदारों के विरोध की वजह से प्रवर्तन दल को बैरंग वापस लौटना पड़ा। नगर निगम की योजना के अनुसार झंडेवाला पार्क के पास पटरी दुकानदारों के लिए साढ़े सात फिट और ग्राहकों के लिए चार फिट की जगह छोड़ी जानी है। इसी मकसद से नगर निगम की टीम अमीनाबाद पहुंची थी लेकिन दुकानदारों के विरोध की वजह से वापस लौटना पड़ा। वहीं पटरी दुकानदार समिति के अध्यक्ष गोकुल प्रसाद ने बताया कि पटरी दुकानदार नगर निगम के अतिक्रमण हटाओ दस्ते की कार्रवाई के डर से करीब डेढ़ महीने से सडक़ों के किनारे दुकानें नहीं लगा रहे हैं। इसके लिए नगर आयुक्त से जगह दिलाने के लिए गुहार भी लगाई गई थी, उसके बाद भी यहां के व्यापारी पटरी दुकानदारों को जगह नहीं देना चाहते हैं। जबकि पटरी दुकानदार रोजाना की जरूरतों को पूरा करने में भी नाकाम साबित हो रहे हैं।

Pin It