अमित शाह के स्वागत के साथ बीजेपी में टिकट बेचे जाने को लेकर घमासान

  • भाजपा के एमएलसी प्रत्याशी टिकट ठुकरा कर पहुंच गए सपा के खेमे में
  • पार्टी के लोगों ने ही लगाया आरोप, कई करोड़ लेकर बांटे गए थे टिकट
  • आरोपों पर जांच के लिए बनाई गई कमेटी
  • दुबारा राष्टï्रीय अध्यक्ष बनने के बाद लखनऊ पहुंचे अमित शाह के सामने भी उठ सकता है मुद्दा

dddd11 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सत्ता में आने का दावा करने वाली भाजपा की मुसीबतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पार्टी अभी इस सदमें से उबरी भी नहीं थी कि एमएलसी चुनाव के लिए उसने जो प्रत्याशी चुने थे वह पार्टी से पीछा छुड़ाकर सपा के पाले में खड़े हो गए। यहीं नहीं पार्टी ने दोपहर को पार्टी ज्वाइन करने वाले लोगों को भी शाम को टिकट दे दिया। पार्टी की इस किरकिरी के बाद अब जब उनके अपने ही लोगों ने आरोप लगाया कि करोड़ों रुपए लेकर टिकट दिए गए थे तो घमासान शुरू हो गया।
पूरे मामले की जांच के लिए कमेटी बना दी गई है जो 6 मार्च तक अपनी विस्तृत रिपोर्ट देगी। लखनऊ, आगरा क्षेत्र की रिपोर्ट सूर्य प्रताप शाही, बांदा क्षेत्र की रिपोर्ट रमापति राम त्रिपाठी, मेरठ की शिव प्रताप शुक्ल और लखनऊ क्षेत्र की रिपोर्ट सतीश महाना सौपेंगे।
पार्टी में घमासान के बीच दुबारा राष्टï्रीय अध्यक्ष चुनने के बाद अमित शाह आज पहली बार लखनऊ पहुंचे। एयरपोर्ट पर ही कार्यकर्ताओं ने उनका भव्य स्वागत किया। कुछ देर रुककर अमित शाह बहराइच चले गए। माना जा रहा है कि पार्टी की इस बड़ी बदनामी पर अमित शाह कोई कड़ा फैसले ले सकते हैं।

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी ने टिकट बेचे जाने के आरोपों को निराधार बताया है। उन्होंने कहा कि यह कमेटी इस बात के लिए बनाई गई है कि वह नामांकन से लेकर नाम वापसी तक हुई चूक की रिपोर्ट देगी।

कांग्रेस प्रवक्ता अशोक सिंह ने कहा है कि भाजपा का चलन ही है कि वह पैसे देकर टिकट बांटती है। पार्टी के राष्टï्रीय अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण पैसे लेकर कैमरे पर दिख चुके हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में 20 करोड़ लेकर बाबू ङ्क्षसह कुशवाहा को पार्टी ज्वाइन कराई गई थी।

सरकार ने हजारों तीर्थयात्रियों को जगन्नाथपुरी और कोणार्क मंदिर भेजा

  • समाजवादी श्रवण यात्रा के तहत आज भेजे गए श्रद्धालु
  • धर्मार्थ कार्य मंत्री विजय मिश्रा और प्रमुख सचिव धर्मार्थ नवनीत सहगल ने विदा किया यात्रियों को

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ: समाजवादी श्रवण यात्रा के तहत आज हजारो यात्रियों को जगन्नाथपुरी और कोणार्क मंदिर के लिए रवाना किया गया। पूरी टे्रन तीर्थयात्रियों से भरी हुई थी। यह स्पेशल ट्रेन इन तीर्थयात्रियों को इन धार्मिक स्थानों की नि:शुल्क तीर्थयात्रा कराकर वापस लाएगी। सरकार ने पूरे प्रदेश से ऐसे लोगों के नाम मांगे थे जिनकी आयु अधिक हो गई है और वह अपने साधनों से तीर्थ यात्रा नहीं कर पा रहे हैं। इस श्रवण यात्रा के तहत सरकार पहले भी हजारों तीर्थयात्रियों को रामेश्वरम, हरिद्वार, ऋषिकेष, तिरूपति, अजमेर शरीफ आदि स्थानों की यात्रा करा चुकी है।
इन तीर्थ यात्रियों के लिए पूरी ट्रेन बुक कर ली जाती है। इसी ट्रेन में डॉक्टर एवं कुछ जिम्मेदार अधिकारियों को भेजा जाता है, जिससे यात्रियों को किसी प्रकार की भी परेशानी न हो।
आज तीर्थयात्रियों की सारी व्यवस्था देखने के लिए धर्मार्थ कार्य मंत्री के साथ प्रमुख सचिव नवनीत सहगल ने सारी व्यवस्था देखने के बाद तीर्थ यात्रियों के लिए ट्रेन में ही बन रहे भोजन का निरीक्षण किया।
समाजवादी श्रवण यात्रा का पूरे प्रदेश में बेहद सकारात्मक परिणाम सामने आया है। प्रदेश के कई जिलों में इस बात की चर्चा हो रही है कि किसी भी सरकार का यह पहला कदम है जब सरकार ने सोचा हो कि वृद्ध और संसाधनों से कमजोर लोग तीर्थ यात्रा नहीं कर पा रहे हैं और सरकार ने खुद आगे बढक़र इसकी पहल की है। धर्मार्थ कार्य विभाग अब तक महत्वहीन समझा जाता था, मगर प्रमुख सचिव नवनीत सहगल की इस पहल की तारीफ खुद मुख्यमंत्री कई बार कर चुके हैं।

Pin It