अमर सिंह की बदनाम पार्टी में शामिल होना भारी पड़ा दीपक सिंघल को

  • ड्डअमर ङ्क्षसह अपने कारनामों से कई परिवारों में इस तरह का विवाद पहले भी पैदा कर चुके हैं

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
10लखनऊ। सपा मुखिया को अब समझ आ रहा है कि अमर सिंह को पार्टी में लाकर उन्होंने कितनी बड़ी गलती कर दी। अमर सिंह राजनीति के वह नासूर हैं जो जहां होता है वहां दर्द करता है। उनके पार्टी में शामिल होते ही लोग कहने लगे थे कि अब अमर सिंह यादव परिवार में दरार डलवा देंगे। इससे पहले अपने कारनामों से अमर सिंह अंबानी परिवार में और बच्चन परिवार में भी आपस में विवाद करा चुके हैं। अमर सिंह ने समाजवादी पार्टी में आते ही अपने ये कारनामें फिर शुरू कर दिए।
दो दिन पहले उन्होंने दिल्ली में जी टीवी के मालिक सुभाष चन्द्रा के राज्यसभा सदस्य बनने के सम्मान में एक पार्टी रखी। अमर सिंह की पार्टियां वैसे भी खासी बदनाम रहती है। इस पार्टी में सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव, शिवपाल यादव और मुख्य सचिव दीपक सिंघल भी पहुंचे थे। एक साजिश के तहत अमर सिंह ने सीएम की कुछ मुद्दों पर आलोचना शुरू की और बाकी लोगों ने उनका साथ दिया। अमर सिंह की रणनीति थी कि सामूहिक रूप से सभी लोग सीएम की आलोचना करें जिससे सपा मुखिया को भी ये लगे कि वास्तव में अखिलेश ठीक काम नहीं कर रहे हैं। अमर सिंह इस तरह की खुराफात करने के माहिर खिलाड़ी हैं और वह अपने इन्हीं कारनामों से कई लोगों के रिश्ते खराब करा चुके हैं।
अमर सिंह को अंदाजा नहीं था कि खुद नेता जी सीएम को बता देंगे कि सब लोग उनसे नाराज हैं। सूत्रों का कहना है कि नेता जी ने सीएम से कहा कि उनके कामों से लोग खुश नहीं हैं और चीफ सेक्रेटरी के सामने अमर सिंह ने भी यह कहा। सीएम पहले से ही दीपक सिंघल से खुश नहीं चल रहे थे और इस इनपुट के बाद उन्होंने दीपक सिंघल को हटाने में देरी नहीं लगाई।

Pin It