अब प्रदेश भर में 100 नम्बर पर मिलेगी एमसीआर की सुविधा

‘केन्द्रीय मास्टर को-आर्डिनेशन सेन्टर’ से रखा जायेगा नियंत्रण

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राज्य सरकार ने प्रदेश के कतिपय जनपदों में स्थापित आधुनिक पुलिस नियंत्रण कक्ष द्वारा नागरिकों को प्रदान की जा रही बेहतर सेवाओं के उत्साहजनक परिणाम को देखते हुए डायल-100 परियोजना को पूरे प्रदेश में लागू करने का निर्णय लिया है। इसके तहत नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों को उन्नत स्तर की पुलिस सेवाएं तत्काल उपलब्ध कराए जाने के उद्देश्य से ‘राज्य व्यापी डायल-100’ परियोजना को स्वीकृति प्रदान की है।
इस परियोजना के तहत किसी आकस्मिक स्थिति में प्रदेश के किसी भी स्थान से टेलीफोन, एसएमएस अथवा किसी अन्य संचार माध्यम से परियोजना के केन्द्र से सम्पर्क करने वाले नागरिकों को पुलिस सहायता तुरन्त उपलब्ध करायी जाएगी।
डायल-100 सेवा के अन्तर्गत पुलिस इमरजेन्सी रिस्पान्स प्रबन्धन प्रणाली के लिए परामर्शी सेवाएं प्रदान किए जाने हेतु प्रबन्ध निदेशक, यूपी इलेक्ट्रॉनिक्स कारपोरेशन लि. द्वारा उपलब्ध कराए गए प्रस्ताव के आधार पर परियोजना के लिए मेसर्स अर्नेस्ट एण्ड यंग, एलएलपी को कन्सलटेन्ट चयनित किया गया है। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि डायल-100 की सुविधा प्रदान किए जाने हेतु जनपद लखनऊ में एक ‘केन्द्रीय मास्टर को-आर्डिनेशन सेन्टर’ स्थापित करने हेतु लखनऊ विकास प्राधिकरण से 8 एकड़ भूमि खरीदने के लिए अब तक 33.55 करोड़ रुपए की धनराशि स्वीकृत की गई है। उल्लेखनीय है कि इस परियोजना को कुशलतापूर्वक सम्पन्न करने हेतु राज्य सरकार ने वेंकट चंगावल्ली को 9 दिसम्बर, 2014 को गृह विभाग का सलाहकार नामित किया है। उनकी अध्यक्षता में 18 मार्च, 2015 को एक वर्किंग ग्रुप का गठन किया गया है। इस वर्किंग ग्रुप द्वारा परियोजना को व्यावहारिक रूप देने के लिए नियमित बैठकें आयोजित की जा रही हैं।

Pin It