अब गोंडा में हिंसा, कौन कर रहा साजिश

गोंडा में धारा 144 लागू, पूरे शहर में पुलिस बल तैनात
दो पुलिसकर्मियों सहित पांच लोगों के घायल होने की सूचना

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। कहीं प्रदेश में सामाजिक सद्ïभाव बिगाडऩे की कोशिशें तो नहीं हो रही हैं? आखिर एक के बाद एक धार्मिक त्योहारों के Captureदौरान ही उत्तर प्रदेश के जिलों में बवाल की घटनाएं क्यों हो रही हैं। इन घटनाओं के पीछे की वजहें चाहे जो भी हों लेकिन जिस तरह से दो समुदायों को आपस में लड़ाने की कोशिश की जा रही है उससे किसी बड़ी साजिश की बू आ रही है। बीते दो वर्ष पहले मुजफ्फरनगर के दंगे को लोग अभी भुला भी नहीं पाए हैं कि इधर कुछ महीनों में जिस तरह मेरठ, आगरा, बाराबंकी और अब गोंडा में सामाजिक सौहार्द बिगाडऩे की कोशिश की गई, उससे यह साफ हो गया है कि कोई तो है जो प्रदेश का माहौल फिर से बिगाडऩा चाहता है। प्रदेश सरकार को बीते दिनों हुई धार्मिक उन्माद की घटनाओं से सबक लेते हुए इस पर सख्त कदम उठाने चाहिए।
गोंडा में कल गणेश प्रतिमा के विसर्जन के दौरान दो गुटों में जमकर पत्थरबाजी और फायरिंग हुई। कई दुकानों को आग के हवाले कर दिया गया। अब तक दो पुलिसकर्मियों सहित पांच लोगों के घायल होने की सूचना है। बताया जा रहा है कि जिस समय मूर्तियों को विसर्जन के लिए उतरौला रोड से राजा मोहल्ला की तरफ ले जाया जा रहा था, उसी समय कुछ अराजक तत्वों ने पथराव कर दिया। इसके बाद दोनों पक्षों में झड़प हो गई। कुछ ही देर में पूरे शहर में तनाव फैल गया। गुस्साए लोगों ने कई दुकानों और गाडिय़ों में आग लगा दी। घटना की जानकारी पाकर सिटी मजिस्ट्रेट एके शुक्ल और सीओ सदर अखंड प्रताप फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। गुस्साए लोगों ने अफसरों पर भी पथराव कर दिया। इसमें सिटी मजिस्ट्रेट को भी चोटें आई। हालात काबू में न होता देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे, तब जाकर मामला शांत हुआ। डीएम अजय कुमार उपाध्याय ने बताया कि हालात नियंत्रण में हैं। घटना को देखते हुए कई जिलों की फोर्स बुला ली गई है। साथ ही धारा 144 लागू कर दी गई है। पूरे शहर में पुलिस बल तैनात है।

Pin It