अब गरीब छात्र भी कर सकेंगे आईआईटी की तैयारी

सीएम ने दिए योजना बनाने के निर्देश
लखनऊ। यूपी में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों के भविष्य को बेहतर बनाने और उनकी पढ़ाई को लेकर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव नया कदम उठाने की तैयारी में हैं। उन्होंने राजकीय विद्यालयों के 10वीं तथा 12वीं कक्षा के साधनविहीन प्रतिभाशाली विद्यार्थियों की आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराने के लिए एक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने इसको लेकर विशेष सचिव मुख्यमंत्री मुथुकुमार स्वामी बी को नोडल अधिकारी नामित किया है। इस संबंध में पटना, बिहार के आनन्द कुमार द्वारा संचालित ‘सुपर-30’ संस्था से संपर्क स्थापित करके कार्य योजना की तैयारी चल रही है। पिछले वर्षों में आईआईटी की प्रवेश परीक्षा में साधनहीन प्रतिभाशाली विद्यार्थियों ने सफलता प्राप्त की है। इसे देखते हुए राजकीय विद्यालयों के 10वीं तथा 12वीं कक्षा के ऐसे विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा, जो प्रतिभाशाली तो हैं, किन्तु आर्थिक अभाव के कारण आईआईटी प्रवेश परीक्षा की तैयारी करने में समर्थ नहीं हैं।

Pin It