अब अंकल को उनकी हैसियत बताएंगे सीएम

  •  जयाप्रदा को भी फिल्म विकास परिषद से हटाए जाने की चर्चा
  • सीएम का संदेश बाहरी लोग दखल नहीं दे सकते परिवार और सरकार के बीच
  • सीएम अखिलेश के तेवर देखकर अमर सिंह की चढ़ी कंपकपी, कहा अखिलेश मुझे मारेंगे तब भी
  • पूछूंगा बेटा तेरे हाथ में चोट तो नहीं लगी

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
2लखनऊ। अंकल अमर सिंह ने अपने भतीजे अखिलेश यादव को नुकसान पहुंचाने के लिए चाल तो बहुत सोच समझकर चली थी, मगर उन्हें अंदाजा नहीं था यही चाल उन पर भारी पड़ जाएगी। सीएम ने अंकल की पार्टी में हुई अपने खिलाफ साजिशों पर ऐसा पलटवार किया कि अपने को राजनीति का बड़ा खिलाड़ी समझ रहे अमर सिंह पसीने-पसीने हो गए। दो दिन के यादव परिवार के घमासान के बाद आज लखनऊ पहुंचे सपा के राष्ट्रीय महासचिव राम गोपाल यादव ने भी साफ कर दिया कि अमर सिंह किस तरह सपा को नुकसान पहुंचाने की साजिश रच रहे हैं। राम गोपाल यादव जिस तरह अमर सिंह के खिलाफ बोले और सीएम अखिलेश की बातों का समर्थन किया उससे साफ है कि अमर सिंह के आने वाले दिन और परेशानी भरे साबित होंगे।
दरअसल अमर सिंह को पार्टी में लिए जाने पर शुरूआत में सीएम अखिलेश यादव तैयार नहीं थे। मगर अपने पिता की इच्छा को देखते हुए वह मौन हो गए और अमर सिंह की पार्टी में एंट्री हो गई। मगर पार्टी में आने के बाद अमर सिंह ने वही करना शुरू कर दिया, जिसके लिए वह जाने जाते हैं। उन्होंने शिवपाल के बहाने यादव परिवार में मतभेद पैदा करना शुरू कर दिया।
आज लखनऊ पहुंचे राम गोपाल यादव ने साफ कर दिया कि सपा में प्रभारी अध्यक्ष जैसा कोई पद नहीं होता, मगर इसी बाहरी व्यक्ति ने नेताजी की सरलता का फायदा उठाकर पार्टी के संविधान के विपरीत प्रभारी अध्यक्ष पद बनवा दिया। राम गोपाल यादव आज अमर सिंह पर काफी तल्ख दिखाए दिए। ईटीवी के दफ्तर पहुंच कर संपादक ब्रजेश मिश्रा से बात करते हुए राम गोपाल ने कहा कि अमर के पार्टी में आने से सभी लोग नाराज थे, फिर भी लोगों को उम्मीद थी कि यह आदमी पार्टी का विरोध नहीं करेगा, मगर इस व्यक्ति को पार्टी की कोई चिंता नहीं। पार्टी जाए भाड़ में इसको अपने काम से मतलब है।
सीएम भी अब अमर सिंह को उनकी हैसियत बताने पर अमादा हो गए हैं। वह संदेश देना चाहते हैं कि अगर कोई व्यक्ति पार्टी को नुकसान पहुंचाएगा तो भले ही कितना प्रभावशाली क्यों न हो उसे पार्टी में नहीं रहने दिया जाएगा।

लखनऊ पहुंच कर
राम गोपाल यादव ने भी बिना नाम लिए अमर सिंह पर साधा निशाना कहा जो समाजवादी नहीं वह कैसे हो सकता है मुलायम वादी
राम गोपाल ने कहा अखिलेश से बिना पूछे उन्हें प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटाना था गलत,
हो गई गलती
कहा यह बाहरी आदमी शुरू से पार्टी को नुकसान पहुंचाने की करता रहा है साजिश, नेताजी की सरलता का उठाता है फायदा

Pin It