अफवाह से भडक़ी ङ्क्षहसा: एडीजी

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एडीजी लॉ एंड आर्डर दलजीत सिंह चौधरी ने मैनपुरी में हुए बवाल की वजह गोहत्या नहीं माना है। उन्होंने कहा कि मैनपुरी में किसी जानवर की मौत हो गई थी। लोगों ने गोहत्या की झूठी अफवाह फैला दी। हकीकत यह है कि मरे हुए जानवर को दो लोग दफना रहे थे। इस दौरान कुछ लोगों ने उनकी जमकर पिटाई कर दी।
उन्होंने बताया कि मैनपुरी के करहल निवासी घनश्याम के घर में एक जानवर की मौत हो गई थी। उन्होंने गांव के ही इलियास को मरे हुए जानवर को दफनाने का काम सौंपा था। इलियास जानवर को दफना रहा था कि इसी बीच कुछ लोगों ने गोहत्या का अफवाह फैला दी। साथ ही उसके साथी रफीक और लाला को पीटने लगे। इसी दौरान कुछ लोगों ने आगजनी भी की। इलाके में तनाव को देखते हुए भारी पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई। डीएम चंद्रपाल सिंह ने बताया कि अब तक 20 लोग हिरासत में लिए जा चुके हैं। बाकी लोगों की तलाश जारी है।

Pin It