अपराधियों की पनाहगाह बना मलिहाबाद, एक के बाद एक संगीन वारदातों को अंजाम दे रहे बदमाश

अपराधियों पर अंकुश लगाने के मकसद से थाने पर भेजे गए नए प्रभारी भी वारदातों पर नियंत्रण लगाने में हो रहे नाकाम
हत्या, लूट, डकैती और चोरी समेत कई संगीन वारदातों को अंजाम देने के बाद फरार हो चुके हैं अपराधी अब तक खाली हाथ है पुलिस

captureआमिर अब्बास
लखनऊ। राजधानी के मलिहाबाद थाना क्षेत्र में अपराधियों का खौफ है। अपराधियों ने एक के बाद एक सनसनीखेज वारदातों को अंजाम देकर हाईटेक पुलिसिंग पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। इससे पहले भी महीनों तक सुर्खियों में रहने वाला मलिहाबाद क्षेत्र ठंड आते ही अपराधियों की पनाहगाह बन चुका है। इस क्षेत्र में अपराधियों ने महज एक माह में कई संगीन वारदातों को अंजाम दे डाला। आलम ये है कि मलिहाबाद क्षेत्र में लूट, डकैती व चोरी की घटनाएं आम हो चुकी हैं। इनको रोकने में थाने के नये प्रभारी भी नाकाम साबित हो रहे हैं। इसलिए बेबस जनता रात में चैन से सोने के बजाय अपराधियों से खुद को सुरक्षित रखने के लिए जागती रहती है।

मलिहाबाद इलाके में भयंकर ठंड, कोहरे और शीतलहर का पूरा फायदा बदमाश उठा रहे हैं। इस क्षेत्र में हत्या, लूट, डकैती और चोरी की वारदातों को रोकने में मलिहाबाद के थाना प्रभारी शशिभूषण सिंह भी पूरी तरह नाकाम नजर आ रहे हैं। क्षेत्र की जनता का कहना है कि जब से नये प्रभारी ने थाने की कमान संभाली है, अपराधी बेलगाम हो चुके हैं। अपराधियों ने कई संगीन वारदातों को अंजाम दे डाला है। इस क्षेत्र में आपराधिक घटनाओं की संख्या लगातार बढने से पुलिस महकमे के आला अधिकारी भी परेशान हैं लेकिन थाना प्रभारी को क्षेत्र में क्राइम का ग्राफ बढऩे की बिल्कुल भी चिन्ता नहीं है। शायद यही कारण है कि अपराधियों ने हाल ही में कई जघन्य आपराधिक वारदातों को अंजाम दिया है।

केस -1 : आम्रपाली वाटर पार्क
आज से करीब एक सप्ताह पूर्व देर रात आधा दर्जन बदमाशों ने आम्रपाली वाटर पार्क के निकट मॉडल शॉप में सो रहे कर्मचारी को जगाकर दुकान खुलवाई। उसके बाद दुकान खुलते ही सभी बदमाश मॉडल शॉप में घुस गए। बदमाशों ने कर्मचारी को बंधक बना दिया और दुकान के गल्ले में रखी हजारों रुपये की नगदी और बियर की बोतलें लूटकर फरार हो गए। पीडि़त कर्मचारी ने इसकी सूचना अगले दिन सुबह पुलिस को दी। वहीं सूचना मिलने के करीब आधे घंटे बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू की। लेकिन अब तक बदमाशों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

केस -2: कटौली
मलिहाबाद के कटौली स्थित ग्राम बदौरा निवासी विशाल कुमार की परचून की दुकान का शटर काटकर चोरों ने लाखों रुपये का सामान पार कर दिया। पीडि़त के भाई राजू ने बताया कि 6 दिसंबर की रात करीब 10 बजे विशाल ने दुकान बंद की थी। दुकान में करीब 50 हजार रूपए नगदी व एक नोट-3 मोबाइल रखा था। चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले बदमाश नगदी के साथ मोबाइल भी ले गये। चोरों ने करीब एक घंटे तक दुकान में उत्पात मचाया। चोरों ने पहले चैनल का ताला तोड़ा उसके बाद दुकान का ताला तोड़ा। लेकिन क्षेत्र में पूरी रात गश्त करने का दावा ठोंकने वाली पुलिस को वारदात की कानों-कान खबर तक नहीं लगी। इस संबंध में पीडि़त ने सुबह सात बजे पुलिस को सूचना दी। लेकिन सूचना के करीब आधे घंटे बाद पहुंची और सिर्फ खानापूर्ति कर
अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर  लिया। लेकिन अब तक चोरों का सुराग नहीं  लग पाया है।

केस -3: सुरगौला
मलिहाबाद के सुरगौला में 7 दिसंबर की  दोपहर गलत दिशा से आ रही एक रोडवेज की बस से बिजली का तार टूट गया, जिससे नाराज होकर ग्रामीणों ने बस में तोडफ़ोड़ की और पथराव किया। इस घटना में बस में सवार कई यात्रियो को गम्भीर चोटें भी आईं। ग्रामीणों ने बस पर पथराव किए जाने की सूचना पुलिस को फोन के माध्यम से दी लेकिन उसके काफी देर बाद मलिहाबाद पुलिस मौके पर पहुंची। तब तक बस और यात्रियों का काफी नुकसान हो चुका था। लेकिन पुलिस ने नाराज ग्रामीणों को खदेडक़र भगा दिया।

केस -4 : चौधराना
मलिहाबाद के चौधराना स्थित क्लासिक मोंटेसरी स्कूल में चोरों ने बीते कुछ दिन पहले देर रात को धावा बोल दिया। चोरों ने स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे व इलेक्ट्रानिक्स उपकरण को ही अपना निशाना बना लिया। दुकान में रखे करीब दर्जन भर सीसीटीवी कैमरे व कई इलेक्ट्रानिक्स उपकरण लेकर चोर फरार हो गये। इस घटना की जानकारी स्कूल के कर्मचारियों ने संचालक को दी। उनके माध्यम से पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है लेकिन अब तक घटना को अंजाम देने वालों का कोई सुराग नहीं  मिल पाया है।

केस-5 : मोहम्मडन टोला
मलिहाबाद कस्बे के मोहम्मडन टोला निवासी फरहान खान का थाने के पास लावा कम्पनी का सर्विस सेन्टर है। वह कुछ दिनों पहले शाम के वक्त अपने सर्विस सेन्टर पर बैठे थे। उसी समय कस्बे के मिर्जागंज निवासी फहद खां व सैफ खां पुत्रगण चांद खां सर्विस में आ धमके। इन दोनों युवकों से किसी बात को लेकर फरहान की कहासुनी हो गई। मामला इतना बढ़ गया कि फहद ने लोहे के पंच से फरहान पर हमला बोल दिया। उसको बुरी तरह पीटकर लहूलुहान कर दिया। जब आसपास की दुकानों में मौजूद लोग जुटने लगे तो दोनों युवक फरहान को जान से मार देने की धमकी देते हुए फरार हो गये। हमले की सूचना पाकर परिजन मौके पर पहुंचे और घायल अवस्था में फरहान को थाने ले जाकर तहरीर दी। पुलिस ने तहरीर लेकर घायल को सीएचसी में डॉक्टरी परीक्षण के लिए भेजा और मेडिकल कराकर दबंगों के खिलाफ अभियोग पंजीकृत कर उनके धर-पकड़ के लिए तलाश शुरू कर दी। लेकिन अब तक पुलिस आरोपियों को नहीं पकड़ सकी। ये मामले तो बानगी भर हैं। इसके अलावा कई ऐसी संगीन घटनाएं भी हुई हैं, जिनका खुलासा करना तो दूर नये इंस्पेक्टर ने उन अपराधियों का सुराग तलाशने तक ही जहमत नहीं उठाई है। इसलिए अपराधियों के हौसले बुलंद हैं।

Pin It