अधिकारियों ने चौराहे पर बैठकर निपटाया विभागीय काम

हाईकोर्ट और स्वास्थ्य भवन चौराहा को ही बना लिया कुछ देर के लिए अपना दफ्तर

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी में अधिवक्ताओं के संभावित उपद्रव को ध्यान में रखकर गुरुवार को हाईकोर्ट और स्वास्थ्य भवन के बाहर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मुस्तैद दिखे। इन अधिकारियों ने चौराहे पर कुर्सियां लगवाई और वहीं दफ्तर का काम-काज शुरू कर दिया। स्टेनो और बाबू फाइलें पलटते रहे, अधिकारी लंबित फाइलों को निपटाते रहे। इससे सुरक्षा व्यवस्था में लगने के बावजूद काम प्रभावित नहीं होने पाया।
जिले के सैकड़ों अधिवक्ताओं ने बुधवार को अपने साथी श्रवण कुमार की हत्या के विरोध में हाईकोर्ट चौराहे पर जमकर तांडव किया था। इस घटना से वकीलों में काफी आक्रोश था। इस कारण गुरुवार को प्रशासन ने वकीलों के संभावित हंगामे को ध्यान में रखकर सुरक्षा से संबंधित पूरी तैयारी की थी, जिसमें अपर जिलाधिकारी स्तर के तीन अधिकारी, दो अपर नगर मैजिस्ट्रेट, छह से अधिक सर्किल आफिसर, थानाध्यक्ष और पुलिस तथा पीएसी के जवान तैनात थे। इस दौरान अपर जिलाधिकारी पश्चिमी जयशंकर दुबे, अपर जिलाधिकारी पूर्वी निधि श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी भू अध्याप्ति प्रथम आरपी सिंह और अपर नगर मैजिस्ट्रेट शैलेन्द्र मिश्र ने चौराहे पर कुर्सियां लगवाकर आफिस के कामों का निपटारा किया। इन अधिकारियों ने अपने स्टेनो और कार्यालय के बाबुओं से फाइलें मंगवाकर चौराहे पर ही लंबित मामलों की निपटारा करना शुरू कर दिया। इसको देखकर पुलिस विभाग के कुछ अधिकारियों ने भी लंबित फाइलों को मंगवाकर अपना काम निपटाने में तत्परता दिखाई।

Pin It