अतिक्रमण से कराह रहा बाजार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
Captureलखनऊ। निशातगंज मार्केट लखनऊ की काफी पुरानी व मशहूर मार्केट है लखनऊ में रहने वाला शायद ही कोई ऐसा होगा जो कि निशातगंज मार्केट के नाम से परिचित न हो। मार्केट के पुराने लोगों ने बताया कि शुरूआती दौर में यहां पर आने वाले ग्राहकों का एक बडा तांता लगा रहता था लेकिन इस समय आलम यहां कुछ और ही हो गया है, यह मार्केट अपने आप पर खुद ही आंसू बहाने को मजबूर होता जा रहा है।

निशातगंज स्थित करामत मार्केट के व्यापारी नेता मोहम्मद इकराम अध्यक्ष ने बताया कि निशातगंज मार्केट में लगने वाली फुटपाथ की दुकानों के कारण आने जाने वाले लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने यह भी बताया कि टेम्पो चालकों की वजह से मार्केट में जाम का माहौल बना रहता है उनका कहना है कि शुरूआती दौर में मार्केट काफी साफ रहती थी लेकिन फुटपाथ की दुकानों के कारण गन्दगी रहती है।
निशातगंज की जान प्रेम बाजार
निशातगंज मार्केट स्थित प्रेम बाजार का निर्माण आज से लगभग तीस से पैंतीस वर्ष पहले हुआ था उस समय यह मार्केट अपने क्षेत्र की पहली मल्टीलेवल मार्केट हुआ करती थी। पुराने दुकानदारों ने बातचीत के दौरान बताया कि मार्केट में शुरुआती दौर में इस मार्केट में ग्राहकों का एक बहुत बड़ा हुजूम लगता था। लेकिन उसके बाद वर्ष 1994 में पुल के निर्माण के बाद से इस बाजार में आने वाले ग्राहकों की संख्या में कमी आयी लेकिन उसके बाद पुल के नीचे फुटपाथ पर दुकानों के लगने से आने जाने में परेशानी के कारण से ग्राहकों की संख्या में और कमी आ गयी। मार्केट में पार्किंग की सुव्यवस्था न होने के कारण ग्राहक मार्केट में आने से कतराने लगे हैं। वहीं व्यापारियों ने बताया कि आने जाने के रास्ते पर दोनों तरफ के लोगों का आवागमन राहता है इस कारण से भी जाम लग जाता है और लोग पुल के नीचे आने से कतराते हैं इस कारण लोग पुल के उपर से होकर गुजरना ज्यादा पसन्द करते हैं। आदित्य सेल्स एण्ड चिकन के मालिक व प्रेम बाजार के व्यापारी नेता प्रतीक जैन ने बताया कि सडक़ पर पुल के नीचे फुटपाथ पर दुकानें लगी हैं, जिस कारण से लोगों को मार्केट में आने जाने में परेशानी होती है साथ ही उनका कहना है कि दोबारा सडक़ के बनने से सडक़ काफी ऊंची हो गयी है जिस कारण से बरसात के दिनों में जल भराव की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
निगम सूट सेलेक्शन के मालिक व प्रेम बाजार व्यापार मण्डल के व्यापारी नेता संजय निगम ने बताया कि गाडिय़ों के पार्किंग से सम्बन्धी कोई व्यवस्था नहीं है व आने जाने के रास्ते पर दोनों तरफ से लोगों का आना जाना रहता है जिस कारण से जाम लगने की समस्या पैदा हो जाती है और लोग इसी कारण से मार्केट में आने से कतराते हैं।
प्रेम बाजार व्यापारी मण्डल के महामंत्री श्री श्रीकान्त दुबे ने बातचीत के दौरान बताया कि स्थानीय पार्षद ने जल भराव की समस्या के लिये बारिश से पहले कार्य करवाने का आश्वासन दिया है। साथ ही लोगों के आने जाने से लगने वाले जाम को जल्द से जल्द सुचारू बनाने का क्षेत्राधिकारी ने आश्वासन दिया है।
टैम्पो चालको की मनमानी
सर्व समाज व्यापार मण्डल के प्रदेश अध्यक्ष सैयद महमूदुर्रहमान उर्फ पम्मू ने बातचीत के दौरान बताया कि इस मार्केट में आने वाले ग्राहकों व अन्य लोगों के साथ व्यापारियों को सबसे ज्यादा परेशानी टैम्पो चालकों की मनमानी के कारण होती है। टैम्पो चालक स्टैण्ड पर मनमाने तरीके से गाडिय़ां खड़ी कर देते हैं जिस कारण आवागमन बाधित हो जाता है और साथ ही सडक़ पर जाम लगने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। साथ ही उनका यह भी कहना है कि टैम्पो चालक लाख कहने के बाद भी नहीं सुनते हैं।
चाक चौबंद है सुरक्षा व्यवस्था
बाजार की सुरक्षा के सम्बन्ध में बातचीत के दौरान लोगों ने बताया कि सुरक्षा को लेकर हम लोगों के मन में भय जरूर
रहता है लेकिन पास में कोतवाली व थाना होने के कारण पुलिस के लोग हमेशा गश्त करते रहते हैं।

 

Pin It