अगले महीने से मिलेगी बिजली के बिलों में राहत

लखनऊ। बिजली उपभोक्ताओं के लिए राहत की खबर है। उनसे वसूले जा रहे दो रेग्युलेटरी सरचार्ज में से एक की मियाद 31 मार्च को खत्म हो गई है। दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम में वसूला जा रहा 1.14 फीसदी, मध्यांचल में 0.73, पश्चिमांचल में 2.84 और पूर्वांचल में 1.03 फीसदी सरचार्ज अब नहीं लगेगा। अब सिर्फ 2.38 फीसदी दूसरा रेग्युलेटरी सरचार्ज प्रभावी होगा। राज्य विद्युत नियामक आयोग जल्द ही इस संबंध में औपचारिक आदेश जारी कर देगा। इससे उपभोक्ताओं को बिजली के बिल में थोड़ी राहत जरूर मिलेगी।
बताते चलें बीते सालों में राज्य विद्युत नियामक आयोग ने बिजली कंपनियों को दो रेग्युलेटरी सरचार्ज लगाने की परमीशन दी थी। यह परमीशन बिजली की लागत और राजस्व के अंतर की वजह से दी गई थी। साल 2014-15 का रेग्युलेटरी चार्ज पहले 2.84 फीसदी तय किया गया था। आयोग ने बिजली कंपनियों की परफार्मेंस का आंकलन करने के बाद पिछले साल अप्रैल में अलग-अलग कंपनी के लिए अलग-अलग सरचार्ज तय कर दिए थे। 2014-16 के सरचार्ज की वसूली मार्च 2016 तक की जानी थी।

Pin It