अंदर चलेगा सत्र तो बाहर विधानसभा का घेराव करेंगे कांग्रेसी

  • सरकार को कानून व्यवस्था पर घेरने की कोशिश

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। विधानसभा चुनाव की तैयारी में सत्ता पक्ष से लेकर विपक्षी पार्टियां जुटी हुई हैं। समाजवादी सरकार अपनी उपलब्धियों को जनता के बीच बता रही है तो भाजपा व कांग्रेस समय-समय पर सरकार को कानून व्यवस्था जैसे मुद्दे पर घेरने की कोशिश में लगी रहती है। चुनावी तैयारी के मद्देनजर अब कांग्रेस 17 अगस्त को निर्मल खत्री के नेतृव में हजारों कार्यकर्ताओं के साथ विधानसभा का घेराव करेंगे। इसमें पूरे प्रदेश से कांग्रेस कार्यकर्ता भाग लेंगे।

अब कांग्रेस भी प्रदेश में चुनावी तैयारी को लेकर सक्रिय हो गई है। कुछ दिनों पहले केन्द्र सरकार के खिलाफ पूरे प्रदेश में रैली निकाली गई थी। हालांकि कांग्रेस की जब केंद्र में सरकार थी तो सपा ने उसको भले बाहर से समर्थन दिया था और समाजवादी के समर्थन से पीएल पूनिया और प्रमोद तिवारी भले ही राज्य सभा पहुंचे हो मगर 17 अगस्त को कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री के नेतृत्व में ये सभी लोग करीब 1 लाख से ज़्यादा लोगों के साथ विधान सभा के बाहर समाजवादी पार्टी को घेरने की तैयारी में है। जाहिर है कांग्रेस अपने भविष्य को तलाशने में जुटी है और जिस तरह से विधान चुनाव नजदीक आ रहे है वैसे ही कांग्रेस अब लोगों के मुद्दों को सरकार के खिलाफ सडक़ ओर उत्तर कर अपना रोष दर्ज करा रही है। यही वजह है की 2017 के चुनाव में जब जनता के पास वोट मांगने जाएं तो ये बता सके की हम भी जनता के मुद्दों को लेकर सडक़ पर उतरे थे।

पूरे उत्तर प्रदेश के हर जिले से कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ प्रदेश अध्यक्ष निर्मल खत्री के नेतृत्व में हम सरकार को घेरेंगे। प्रदेश में छाए जंगल राज , बिगड़ती कानून व्यवस्था और यादव सिंह के मामले को सरकार दबाने में कोई कोर कसर नही छोड़ रही है। गन्ना किसानों का बकाया भुगतान, शराब माफियाओं का आतंक जैसे गंभीर मुद्दों पर हम अपना रोष दर्ज करेंगे।अशोक सिंह, कांग्रेस प्रवक्ता
विधानसभा सत्र 14 से

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 14 तारीख से विधानसभा का सत्र शुरु होने जा रहा है। सरकार को घेरने के लिए विपक्षी पार्टियां अपनी रणनीति बना चुकी है। विपक्ष अनेक मुद्दोंं को लेकर सपा सरकार पर हमला करेगी, हालांकि सपा सरकार यह कह चुकी है कि उसे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता।

विधानसभा सत्र शुरु होने में दो दिन बचे है। कांग्रेस से लेकर भारतीय जनता पार्टी सरकार को घेरने की रणनीति बना चुकी है। भाजपा कानून व्यवस्था, महिला हिंसा और गन्ना किसानों के बकाए रकम जैसे मुद्दों को लेकर सरकार के घेरेगी। चुनावी तैयारी को लेकर भाजपा लगातार सरकार को घेरती आ रही है। चाहे वह शुरुआती दौर का विशाल धरना प्रदर्शन हो या उनके विधायक और सांसदों का धरना हो। इस संबंध में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने कहा कि हमारे पास सरकार को घेरने के लिए अनेक मुद्दे है। कांग्रेस भी आक्रामक मूड में आ गई है। कांग्रेसी विधानसभा सत्र के दौरान विधानसभा के अंदर तो घेराव करेंगे, सदन के बाहर भी घेराव करने की तैयारी में है।

Pin It